लॉकडाउन के बीच ड्राइविंग लाइसेंस की वैधता अवधि में छूट, राज्य सरकारों को हिदायत जारी

आर्थिक पैकेज के एलान के बाद केंद्र सरकार ने बड़ी पहल की है. अब ड्राइविंग लाइसेंस परमिट और पंजीकरण जैसे दस्तावेज की मियाद बढ़ाकर 30 जून कर दी गई है. लॉकडाउन के कारण पैदा हुई मुसबीतों से छुटकारा दिलाने के लिए केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को सलाह जारी की है.

ड्राइविंग लाइसेंस नवीनीकरण की अवधि बढ़ी

राज्य सरकारों को जारी हिदायत में कहा गया है कि परिवहन दफ्तर बंद रहने के कारण ड्राइविंग लाइसेंस के नवीनीकरण में समस्या पैदा हो रही है. लॉकडाउन में लोगों का घरों से बाहर निकलना, आने जाने का साधन बंद है. लिहाजा 1 फरवरी से खत्म हुए ड्राइविंग लाइसेंस की परमिट और पंजीकरण जैसे दस्तावेज की मियाद बढ़ाएं. सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों को सलाह जारी की. जिसके मुताबिक उनसे 1 फरवरी को समाप्त होनेवाली दस्तावेज की वैधता को 30 जून तक वैध माने जाने को कहा है.

लॉकडाउन के बीच केंद्र सरकार ने जारी की हिदायतें 

केंद्र सरकार की इस पहल का मकसद देश में जारी लॉकडाउन के दौरान जरूरी सामानों की ढुलाई को सुचारू बनाए रखना है. शुक्रवार को रिजर्व बैंक ने सभी वाणिज्यिक बैंकों और अन्य वित्तीय सेवा प्रदान करनेवाली संस्थाओं से लोन की समय सीमा 3 महीने बढ़ाने को कहा था. इस दौरान कर्जदाताओं के खातों से लोन की वसूली नहीं होगी. सोमवार को जारी राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों को जारी हिदायत से करोड़ों लोगों को फायदा मिलने की संभावना है.