आर्मी यूनिफॉर्म में बदलाव को मिली मंजूरी, शुरूआत मेस ड्रेस के साथ

इंडियन आर्मी ने ऑफिसर्स की यूनिफॉर्म में बदलाव की शुरुआत की है। सबसे पहले आर्मी ऑफिसर्स की मेस ड्रेस में बदलाव होगा। सूत्रों के मुताबिक इसके लिए आर्मी चीफ ने मंजूरी दे दी है। करीब 10 दिन पहले यूनिफॉर्म में बदलाव को लेकर आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत को एक प्रजेंटेशन दिया गया। जिसमें वैसे तो और यूनिफॉर्म की भी बात हुई लेकिन मेस ड्रेस में बदलाव को मंजूरी मिल गई है।

मेस ड्रेस से अभी तक रेजिमेंट का पता चलता था

सूत्रों के मुताबिक यह बदलाव लागू होने के बाद आर्मी ऑफिसर्स की मेस ड्रेस से यह पता नहीं चल पाएगा कि कौन ऑफिसर किसी आर्म से हैं और किस रेजिमेंट से हैं। आर्मी की किसी भी फॉर्मल या इनफॉर्मल सोशल गैदरिंग में आर्मी ऑफिसर्स मेस ड्रेस पहनते हैं। आर्मी के एक सीनियर अधिकारी के मुताबिक अभी मेस ड्रेस में पहने जाने वाले कमरबंद से इसका पता चल जाता है कि कौन अधिकारी इंफ्रेंट्री के हैं, कौन आर्टिलरी के, कौन आर्म्ड के, कौन एयर डिफेंस के और कौन आर्मी सप्लाई कोर के। इसी तरह अधिकारी किस रेजिमेंट के हैं यह भी मेस ड्रेस के कमरंद से और टोपी से भी पता चल जाता है।

सभी अधिकारियों की मेस ड्रेस एक जैसी होगी

अब तय किया गया है कि सभी आर्मी अधिकारियों की मेस ड्रेस में कमरबंद और टोपी एक जैसी होगी। मेस ड्रेस में आर्मी अधिकारी के रैंक का पता लगेगा, उसमें रिबन लगे होंगे और नेम प्लेट होगी। लेकिन किस रेजिमेंट के और किस सर्विस के हैं यह पता नहीं लगेगा। अभी मेस ड्रेस में भी कमंडेशन (प्रशंसा) कार्ड लगाए जाते हैं लेकिन बदलाव के बाद यह नहीं लगेंगे। मेस ड्रेस फ्लैट होगी। इस बदलाव के पीछे मकसद यह है कि इंडियन आर्मी एक लगे न कि रेजिमेंट में बंटी हुई दिखे।