CBSE की बची हुई परीक्षाओं की तारीखों का ऐलान, 1 से 15 जुलाई के बीच होंगे एग्जाम

केंद्र सरकार ने सीबीएसई की बची हुई परीक्षाओं की तारीखों का ऐलान कर दिया है. सीबीएसई की 10 वीं और 12 वीं की बची हुई बोर्ड परीक्षा 1-15 जुलाई के बीच होगी. राजधानी दिल्ली में दंगा ग्रस्त इलाकों में दसवीं के 6 विषयों और 12वीं के 12 विषयों की परीक्षा होगी. वहीं देश भर में केवल 12वीं के 11 विषयों की परीक्षाएं होनी हैं.

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने एक वीडियो संदेश के माध्यम से तारीख का ऐलान किया. शुक्रवार को उन्होंने ट्वीट किया, “लंबे समय से CBSE की 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षाओं की तिथि का इंतजार था. आज इन परीक्षाओं की तिथि 1.07.2020 से 15.07.2020 के बीच में निश्चित कर दी गई है. मैं इस परीक्षा में भाग लेने वाले सभी विद्यार्थियों को अपनी शुभकामनाएं देता हूं. 10वीं की बची हुई परीक्षाएं सिर्फ उत्तर पूर्वी दिल्ली क्षेत्र के लिए ही होंगी.”

12वीं के छात्रों पर पड़ा सबसे ज्यादा असर

बोर्ड का कहना है शेड्यूल तय होते ही छात्रों को जानकारी दे दी जाएगी. साथ ही परीक्षा के एक महीने बाद जांच का भी काम पूरा हो जाएगा. देश में कोरोना वायरस के बढ़ते हुए खतरे को देखते हुए लॉकडाउन लगाया गया था. जिसके चलते परीक्षा स्थागित हो गई थी. इसका सबसे ज्यादा प्रभाव 12वीं कक्षा के छात्रों पर पड़ा, क्यूोंकि ना केवल उन्हें बोर्ड्स की परीक्षाएं देनी होती हैं बल्कि कॉलेज में एडमिशन के लिए भी तैयारी करनी होती है. बहुत से बच्चें प्रतियोगी परीक्षाओं में भी भाग लेना चाहते हैं लेकिन लॉकडाउन से स्थगित हुई उनकी परीक्षाओं की लिए जारी तैयारी पर भी ब्रेक लगा दिया था. लेकिन अब परीक्षा की जानकारी मिलने के बाद छात्र राहत महसूस कर रहें हैं.

‘पहले ही कर ली थी तैयारी’

छात्रों का कहना है कोरोना का खतरा तो सब को है, लेकिन आखिर कब तक परीक्षा टलती रहेंगी. इसका सीधा असर हमारे करियर पर होगा. सीबीएसई की ही 12वीं की छात्रा रिन्नी का कहना है कि पूरी सुरक्षा के साथ परीक्षा होनी चाहिए. 12वीं की परीक्षा के लिए सिलेबस पहले ही पूरा हो चुका है. पहले से ही परीक्षा की तैयारी कर ली थी, लेकिन परीक्षा स्थागित हो गई. रिन्नी ना केवल बोर्ड की तैयारी कर रही है बल्कि कॉलेज में एडमिशन लेने की भी तैयारी साथ में कर रही हैं. उसका कहना अब क्यूंकि डेट आ गई है तो वो उसके हिसाब से अपनी तैयारी आगे बढ़ाएंगी.

वहीं महेर का भी यहीं मानना है के डेट की जानकारी लगने से राहत मिली है. इससे पहले काफी तनाव था और कुछ क्लैरिटी भी नहीं थी. समझ नहीं आ रहा था के परीक्षाएं होंगी भी या नहीं. लेकिन अब जब जुलाई में परीक्षा होनी है तो हम ध्यान दे कर पढ़ सकते हैं.

‘तैयारी का मिलेगा एक और मौका’

वहीं दिल्ली की रहने वाली 12वीं क्लास की अनुष्का जो कि कॉमर्स की स्टूडेंट हैं, उनकी भी परीक्षा अभी बची हुई हैं. उनका कहना है कि सभी बच्चे लगभग अपनी पढ़ाई पूरी करके रिविजन करने लगते हैं, लेकिन यह जो ब्रेक हुआ उससे थोड़ा तनाव जरूर आया. पढ़ाई में भी ब्रेक लग गया इससे पहले सब कुछ फ्लो में जा रहा था. अब फिर से रिविजन करना पड़ेगा. लेकिन यह उनके लिए भी अच्छा है, जिन्होंने तैयारी नहीं की थी उनको एक मौका मिल गया है.

कोरोना वायरस के बीच स्थगित हुई परीक्षाओं से बच्चों को काफी ज्यादा प्रभाव पड़ रहा था, लेकिन अब जब सीबीएसई ने परीक्षा की तारीखों का ऐलान कर दिया है तो बच्चों के लिए एक राहत मिली है. उनका कहना था कि पहले उनको यही परेशानी रहती थी कि आखिर कब परीक्षाएं होंगी. लेकिन अब जब डेट पता चल चुकी है तो वह पूरी तरह से अपनी पढ़ाई पर ध्यान दे सकते हैं.