Coronavirus से भारत में पहली मौत की पुष्टि, कर्नाटक में 76 साल के बुजुर्ग ने दम तोड़ा, देशभर में 74 लोग संक्रमित

दुनियाभर में कोरोना वायरस चिंता का विषय बना हुआ है. चीन के वुहान से शुरू हुआ कोरोना का कहर भारत में भी अपना असर दिखा रहा है. कोरोना से भारत में पहली मौत का मामला सामने आये है. कर्नाटक के कलबुर्गी में कोरोना ने 76 साल के बुजुर्ग की जान ली है. 10 मार्च को ही मोहम्मद हुसैन सिद्दीकी नाम के बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया था. दो दिन बाद जब ब्लड रिपोर्ट आई तो पता चला कि वो कोरोना से पीड़ित थे. कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री श्रीरामुलु ने सबसे पहले ट्वीट कर ये जानकरी दी. बाद में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी इसकी पुष्टि कर दी है. मंत्रालय का कहना है कि बुजुर्ग को और भी कई बीमारियां थीं जिनमें हाइपरटेंशन और अस्थमा शामिल है. भारत में 74 लोग कोरोना से संक्रमित हैं.

बताया जा रहा ही कि में कोरोना की वजह से जान गंवाने वाले बुर्जुग 29 जनवरी से 29 फरवरी तक सऊदी अरब में रहे थे. भारत लौटने के बाद 6 मार्च को इन्होंने सर्दी जुखाम की शिकायत की. तबीयत बिगड़ने पर 9 मार्च को प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां उन्हें कोरोना का संदिग्ध माना गया और डॉक्टरों ने बुजुर्ग को आइसोलेशन वार्ड में रहने की सलाह दी. लेकिन घरवाले डॉक्टरों को सलाह की अनदेखी करते हुए बुजुर्ग को हैदराबाद के एक प्राइवेट अस्पताल में ले गए. अगले दिन यानि 10 मार्च को जब उन्हें हैदराबाद से Gulbarga Institute of Medical Sciences के आइसोलेशन में शिफ्ट किया जा रहा था तो इसी दरम्यान उनकी मौत हो गई.

अब कर्नाटक का स्वास्थ्य विभाग इस बात का पता लगा रहा है कि यह बुजुर्ग कितने लोगों के संपर्क में आए थे. इस बीच देश में करोना जिस तेजी से फैल रहा है उससे लोगों में घबराहट है. लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों से घबराने के लिए नहीं बल्कि सावधान बरतने की अपील की है.

भारत में कोरोना के कुल 74 पॉजिटिव मामले

बता दें कि दिल्ली, केरल और जम्मू में सिनेमाघरों को बंद करने का एलान किया गया है. कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए पब्लिक गैदरिंग से दूर रहने की सलाह दी गई है. भारत में कोरोना के कुल 74 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं. इसमें से 57 भारतीय हैं और 17 नागरिक विदेशी हैं. दिल्ली में कोरोना वायरस के अब तक कुल छह मामले पॉजिटिव पाए गए हैं.