5 साल की बच्ची को रेप के बाद जमीन में गाड़ा, विरोध में लोगों का फूटा सड़कों पर गुस्सा

असम के विश्वनाथ जिले में एक बहशी दरिंदे ने 5 साल की बच्ची के साथ बलात्कार कर उसकी नृशंस हत्या दी. इससे इलाके में माहौल तनावपूर्ण हो गया है. लोगों में गुनाहगार के खिलाफ गुस्सा फूट पड़ा है और जनता ने पुलिस प्रशासन पर दोषी को फांसी देने की मांग को लेकर शहर में रैली निकाली.

बच्ची का माता-पिता विश्वनाथ जिला के चाय बागान में मज़दूरी का काम करते हैं. परिवारवालों का कहना है कि  मंगल पाईक नाम का बगल में रहने वाले एक शख्स के साथ बच्ची को देखा गया था. उसके बाद दिनभर से बच्ची का कहीं कोई अता पता नहीं था. परिवार के लोगों ने पुलिस को बच्ची के न मिलने पर रिपोर्ट दर्ज करवाई और पुलिस ने आखिरी बार बच्ची के साथ दिखाई देने वाले शख्स से जब कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सारा कच्चा चिट्टा उगल दिया.

पुलिस के अनुसार, अपराधी मंगल पाईक सुबह बच्ची को बहला-फुसलाकर चाय बागान के ओर ले गया था और वही बच्ची के साथ दुष्कर्म किया. बच्ची के ज़िंदा रहने पर पुलिस और उसके परिवार को बलात्कार की भनक लगने के डर से बच्ची को बेरहमी से गला घोंट कर हत्या कर दी. बाद में उसके शव को पास के चाय बागान के किनारे एक तालाब के अंदर गाड़ दिया.

पुलिस ने इस बीच बच्ची का शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं और आईपीसी की धारा ३७६ और ३०२ के तहत मामला दर्ज कर अपराधी को गिरफ्तार कर लिया है.

इस बीच, मासूम के साथ रेप की इस घटना से विश्वनाथ जिला के लोग आक्रोशित हैं.सड़क पर उतर कर दोषी को फांसी देने की वकालत कर रहे हैं. गुस्साए लोगों ने बच्ची के तस्वीर को हाथों में उठाए अपराधी को फांसी देने की मांग की हैं.