Coronavirus: कश्मीर में अगले आदेश तक मस्जिदों में नहीं होगी जुमे की नमाज, दरगाह, गुरूद्वारे और मंदिरों में भी Lockdown

देश भर में कोरोना का कोहराम मचा हुआ हैलोग घरों में क़ैद हैंवहीं कश्मीर में कोरोना से पहली मौत हो गई हैइसके बाद यहां के लोगों में दहशत हैकोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन के साथसाथ धार्मिक संगठन भी आगे आ रहे हैंकश्मीर घाटी में कल जुमे की नमाज़ नहीं अदा की जाएगीसाथ ही सभी दरगाहों और जियारतों पर भी संगठनों ने ताले लगवा दिए हैं.

श्रीनगर में मुफ़्ती नासिरउलइस्लाम ने फतवा जारी करके कश्मीर कि सभी मस्जिदों के प्रबंधकों के लिए जुम्मे की नमाज़ आयोजित नहीं करने को कहा हैफतवे में कहा गया है कि सिर्फ़ मस्जिद से अजान दी जाएगी और लोग अपने घरों से ही नमाज़ अदा करेंगेइस फतवे के बाद कश्मीर के विभिन जिलों में प्रशासन भी हरकत में आ गयाकुलगाम और अनंतनाग में प्रशासन ने भी जुमे की नमाज़ और किसी भी बड़े धार्मिक आयोजन को प्रतिबंधित कर दिया हैइसका उल्लंघन करने पर कड़ी करवाई भी की जाएगी.

श्रीनगर में ड्यूटी कमिश्नर की अगुवाई में सभी ज़ियारातोंदरगाहों और सभी धार्मिक स्थलों को बंद करने का काम भी शुरू कर दिया गया हैश्रीनगर में दरगाह हजरतबल और जामिया मस्जिद को भी अगले आदेश तक के लिए बंद कर दिया गया हैग़ौरतलब है कि यहां जुम्मे की सब से बड़ी नमाज़ का आयोजन होता है.

इसके अलावा दस्तगीर साहबख्वाजा हबीबुल्लाह नाक़श्बंदीशाह हमदान और सैयद साहब की ज़ियारातों को भी बंद कर दिया गया हैसाथ ही गुरुद्वारा और मंदिरों को भी बंद किया गया हैडिप्टी कमिश्नर शाहिद इकबाल चौधरी के अनुसार यह फैसला लोगों की सुरक्षा और कोरोना संक्रमण से बचाव को देखते हुए लिया गया है.

शाहिद के अनुसार कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए ‘लोगों के मिलने और एक जगह जमा होने को रोकना हैउन्होंने कहा है कि मस्जिददरगाह और धार्मिक स्थल ऐसी जगह हैं जहां संक्रमण के फैलने की आशंका अधिक रहती है.