भारत-चीन ने नागरिक संपर्क बढ़ाने के लिए की 10 क्षेत्रों पहचान

भारत और चीन ने दोनों देशों के नागरिकों के बीच संपर्क बढ़ाने के लि 10 क्षेत्रों की पहचान की है, लोगों के बीच संपर्क बढ़ाने के लिए उच्च स्तरीय तंत्र की यहाँ हुई पहली बैठक के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इसकी जानकारी दी। बैठक में श्रीमती स्वराज के साथ चीनी विदेश मंत्री वांग यी भी मौजूद थे।

श्रीमती स्वराज ने दोनों देशों के लोगों के बीच आपसी संबंध बढ़ाने के लिए तंत्र की स्थापना का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को दिया। इस संदर्भ में उन्होंने दोनों शीर्ष नेताओं के बीच इस साल अप्रैल में हुई पहली अनौपचारिक बैठक का जिक्र किया।

वांग ने कहा कि नागरिकों के बीच संबंध बढ़ाने के फैसले से दोनों देशों का आपसी संबंध में ‘नये ऐतिहासिक चरण’ में प्रवेश कर गया है। उन्होंने दोनों देशों के संबंधों को बेहतर बनाने में मीडिया की भूमिका का महत्वपूर्ण बताते हुये कहा कि मीडिया को वास्तविक भारत और वास्तविक चीन की तस्वीर दिखानी चाहिये तथा दोनों के बढ़ते संबंधों को रेखांकित करना चाहिये।