कर्नाटक: खतरे में कुमारस्वामी की सरकार? कांग्रेस-जेडीएस के 8 MLA इस्तीफा देने पहुंचे

कर्नाटक में कांग्रेस+जेडीएस के गठबंधन की सरकार खतरे में आ सकती है. इस गठबंधन के 8 विधायक इस्तीफा देने पहुंचे हैं. बताया जा रहा है कि विधानमंडल भवन में मौजूद स्पीकर के कमरे में ये सभी आठ विधायक पहुंचे हुए हैं. कहा जा रहा है कि ये 8 सभी विधायक स्पीकर रामालिंगा रेड्डी को त्यागपत्र देंगे. इनमें 6 कांग्रेस और 2 जेडीएस के हैं. बताया जा रहा है कि स्पीकर फिलहाल अपने कमरे में मौजूद नहीं हैं. सभी विधायक अपना इस्तीफा पत्र लेकर उनका इंतजार कर रहे हैं.

स्पीकर के कमरे में मौजूद हैं ये विधायक-:
1. प्रताप गोड़ा पाटील, कांग्रेस (Pratapgowda patil)
2. शिवराम हेबार, कांग्रेस (Shivaram Hebbar)
3. रमेश जारखोली, कांग्रेस (Ramesh jarkiholi)
4. गोपालाह, जेडीएस (Gopalaiah)
5. महेश कुमाति हाली, कांग्रेस (Mahesh Kumati Halli)
6. एच विश्वनाथ, जेडीएस (H Vishwanath)
7. नारायण गोड़ा कांग्रेस (Narayan Gowda)
8. बीसी पाटील, कांग्रेस (B c patil)

इसके अलावा दावा ये भी किया जा रहा है इन आठ के अलावा 4 और विधायक स्पीकर को अपना इस्तीफा देने पहुंच सकते हैं. उनके नाम इस प्रकार हैं.
1. रामलिंगा रेड्डी, कांग्रेस (Ramalinga reddy)
2. सोम्या रेड्डी, कांग्रेस (Sowmya reddy)
3. बी सुरेश, कांग्रेस (Byrsthi Suresh)
4. मुनिरथना, कांग्रेस (Munirathna)

कांग्रेस के दो विधायक दो चुके हैं इस्तीफा
यहां आपको बता दें कि एक जुलाई को कर्नाटक में कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार को झटका देते हुए बागी विधायक रमेश जरकीहोली सहित दो कांग्रेस विधायकों ने सोमवार को राज्य विधानसभा से इस्तीफा दे दिया. विधानसभा अध्यक्ष के.आर. रमेश कुमार को भेजे गए कन्नड़ भाषा में हाथ से लिखे पत्र में जरकीहोली ने शिकायत की कि उनकी पार्टी ने पिछले साल मंत्रिमंडल से उन्हें बाहर कर उनकी वरिष्ठता को ‘अनदेखा’ किया.

यहां आपको बता दें कि 2018 में कर्नाटक में हुए विधानसभा चुनाव में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं आया था, जिसके बाद कांग्रेस और जेडीएस ने मिलकर सरकार चला रहे हैं. विधानसभा के 225 सीटों में से भाजपा को 104 सीटें मिली, जो बहुमत से नौ कम हैं. कांग्रेस 80 सीटें जीतने में कामयाब रही और उसने जद-एस के साथ मिलकर 23 मई को गठबंधन सरकार बनाया. जेडीएस ने 37 सीटों पर जीत दर्ज की थी. कांग्रेस ने जद (एस) को बिना शर्त समर्थन दिया है.