Coronavirus: लॉकडाउन के दौरान बच्चों और बुजुर्गों का ऐसे रखें ध्यान

कोरोना वायरस का प्रकोप पूरी दुनिया भर में तेजी से बढ़ता जा रहा है. इस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. भारत में अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण के 562 मामलों की पुष्टि हो चुकी है. जिनमें से 11 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मामलों को देखते हुए भारत में लॉकडाउन घोषित किया जा चुका है. पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्र को संबोधित करते हुए देशवासियों से लॉकडाउन का पालन करने की अपील की.

ऐसी स्थिति में बच्चों और बुजुर्गों का ध्यान रखना बेहद अहम है. अब तक दुनिया भर में कोरोना वायरस से सबसे अधिक बुजुर्गों की मौत हुई है. डॉक्टर्स के मुताबिक बच्चों और बुजुर्गों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है. जिस कारण वह इस वायरस की चपेट में आसानी से आ सकते हैं. तो चलिए जानते हैं कैसे बच्चों और बुजुर्गों का कोरोना वायरस से बचाव किया जा सकता है.

. कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए बच्चों और बुजुर्गों को घर से बिल्कुल भी बाहर ना जाने दें. अगर किसी बेहद जरूरी कार्य के चलते उन्हें बाहर जाना पड़ रहा है तो वे मास्क पहनकर निकलें. इस बात का ध्यान रखना बेहद आवश्यक है.

. हर थोड़ी देर में बच्चों और बुजुर्गों के हाथ सैनिटाइजर से धुलवाएं.

. यदि परिवार का कोई सदस्य सर्दी, खांसी, बुखार से पीड़ित है, तो बच्चे और बुजुर्गों घर के उस व्यक्ति से दूर रहें.

.  बच्चों और बुजुर्गों के नाखून को बढ़ने नहीं दें. क्योंकि नाखून में बैक्टीरिया जमा हो जाते हैं.

. बच्चों और बुजुर्गों को भीड़ वाले स्थानों पर ना जानें दें.

. घर में टीवी का रिमोट और कुछ ऐसी चीजें होती हैं जिनपर हर किसी का हाथ बार-बार लगता है, ऐसी चीजों को बार-बार सैनिटाइज करते रहें.

. इस समय ध्यान रखें कि बच्चों और बुजुर्गों का इम्यून सिस्टम अच्छा रहे. इसलिए उनकी डाइट में पौष्टिक आहार शामिल करें.

. किसी भी अनजान व्यक्ति को घर में प्रवेश ना करने दें.