Lockdown 4.0 में महज हॉटस्पॉट इलाकों तक ही रह सकता है प्रतिबंध, युद्धस्तर पर शुरू होगा काम

लॉकडाउन का चौथा चरण महज हॉटस्पॉट इलाकों तक ही सीमित किया जा सकता है। तीसरा चरण 17 मई को खत्म हो रहा है। बाद की रणनीति पर बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन सहित कई वरिष्ठ मंत्रियों के साथ चर्चा की। 
सूत्रों के मुताबिक, ज्यादातर मंत्रियों ने लॉकडाउन को पूरे जिले में लागू करने के बजाय हॉटस्पॉट के तौर पर चिह्नित इलाकों तक सीमित करने पर सहमति जताई। हालांकि, संक्रमण कई हिस्सों में होने पर पूरे जिले में लॉकडाउन लागू होगा।
गृह राज्य लौटे श्रमिकों को तत्काल रोजगार देने के लिए मनरेगा व सड़क प्रोजेक्ट आदि में तेजी लाने का भी फैसला किया गया। एक मंत्री के मुताबिक, योजना धीरे-धीरे देश में उत्पादन इकाइयों को शुरू करनेे की है। 

  • सार्वजनिक परिवहन बहाली पर सहमति

बैठक के दौरान महानगरों में सैनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सार्वजनिक परिवहन शुरू करने पर भी सहमति बनी। सरकार सीमित संख्या में रेल सेवा बहाल कर चुकी है और हवाई सेवा भी चालू करने की घोषणा की जा चुकी है। सूत्रों के मुताबिक, बैठक में रेल सेवा को जल्द ही सामान्य स्तर पर बहाल करने की तैयारी शुरू करने का निर्देश दिया गया। यह भी तय किया गया है कि विभिन्न महानगरों की स्थिति को देखते हुए बस और टैक्सी सेवा शुरू करने की भी इजाजत दी जाए।

  • सरकार के एक साल के कार्यकाल पर चर्चा

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला वर्ष 30 मई को पूरा हो रहा है। इसकी तैयारी पर भी चर्चा हुई। सूत्रों के मुताबिक, पहले साल की उपलब्धियों के रूप में कोरोना संकट के बीच उठाए राहत उपायों की व्यापक  प्रचार की रणनीति बनी। सरकार के स्तर पर उपलब्धियों का बुकलेट छापने की रणनीति बनाई गई थी।सूचना प्रसारण मंत्रालय को बुकलेट छापने की जिम्मेदारी देते हुए कहा गया था कि इसमें अनुच्छेद 370 हटाने, नागरिकता संशोधन कानून लागू करने जैसी उपलब्धियों का विस्तृत वर्णन किया जाए।