कश्मीर से 131 मजदूरों को वापस लाने की तैयारी में ममता बनर्जी सरकार

पश्चिम बंगाल की सरकार कश्मीर से 131 मजदूरों को वापस लाने की तैयारी कर रही है। यह फैसला कश्मीर के कुलगाम में पांच मजदूरों की आतंकी द्वारा हत्या करने के बाद लिया गया है। यह जानकारी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को एक ईको पार्क में दी। बनर्जी ने पत्रकारों से कहा, ‘राज्य सरकार की मदद से कश्मीर गए 131 मजदूरों को वापस पश्चिम बंगाल लाया जाएगा। वह मुर्शिदाबाद, दिनाजपुर और माल्दा से हैं।’सूत्रों के अनुासर सरकार ने मजदूरों को वापस लाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है और दो अधिकारी पहले ही कश्मीर के लिए रवाना हो गए हैं। उन्हें ट्रेन के जरिए लाया जाएगा। सूत्रों का कहना है कि सरकार पुलिस अधिकारियों को कश्मीर भेजने की योजना बना रही है ताकि बंगाल में अपने घर लौटने के इच्छुक ज्यादातर श्रमिकों के लिए उचित व्यवस्था की जा सके।

सेब के बागानों में काम करने वाले मजदूरों को कुलगाम स्थित किराए के घर से बाहर आने के लिए कहा गया। इसके बाद उन्हें पा के क्षेत्र में ले जाकर गोली मार दी गई। मृतकों की पहचान नईमुद्दीन शेख, मुरशलीम शेख, रफीकुल शेख, रफीक शेख और कमरुद्दीन शेख के तौर पर हुई है। यह सभी मुर्शिदाबाद के सागरदिघी के बहलनगर गांव के रहने वाले थे।

मुख्यमंत्री ने दावा किया है कि यह पहले से सुनियोजित किया गया हमला था। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि जिस तरह से मजदूरों का अपहरण करके उनकी हत्या कर दी गई यह एक सुनियोजित हमला था।’ उन्होंने इन हत्याओं के मामले में जांच की मांग की है। मंगलवार को घटना के कुछ घंटो बाद बनर्जी ने घटना पर दुख जताते हुए कहा था कि कश्मीर में आतंकी हमलों में मारे गए मुर्शिदाबाद जिले के पांच श्रमिकों के परिवारों को सभी तरह की मदद दी जाएगी। बनर्जी ने इन हत्याओं को क्रूर बताया था।