#MeToo पंजाब के मंत्री ने महिला अधिकारी को भेजे मैसेज, विपक्षी दलों ने सरकार पर साधा निशाना

मीटू की आंच पंजाब की सियासत तक पहुंच गई है। सूबे के एक कैबिनेट मंत्री के खिलाफ एक महिला अधिकारी द्वारा मुख्यमंत्री से शिकायत किए जाने की चर्चा जोड़ पकड़ने लगी है। हालांकि इस मुद्दे पर न तो संबंधित मंत्री और न ही महिला अधिकारी की ओर से कोई सार्वजनिक बयान जारी किया गया है। लेकिन मीडिया में मामले की चर्चा शुरू होते ही आम आदमी पार्टी और शिरोमणि अकाली दल ने इसे हाथों-हाथ लपक लिया है।

सूत्रों के अनुसार महिला अधिकारी ने कुछ दिन पूर्व मुख्यमंत्री से मौखिक शिकायत की थी कि एक मंत्री उन्हें बार-बार आपत्तिजनक मैसेज भेज रहे हैं। चर्चा है कि मुख्यमंत्री ने इस शिकायत को लेकर उक्त मंत्री को फटकार भी लगाई थी, लेकिन कुछ दिन शांत रहने के बाद मंत्री ने फिर से महिला अधिकारी को मैसेज भेजने शुरू कर दिए। अब महिला अधिकारी ने सीएमओ के अफसरों को आगाह कर दिया है कि अगर मंत्री अपने हरकतों से बाज नहीं आए तो वे उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत देने से नहीं झिझकेंगी।

उधर, मुख्यमंत्री के इन दिनों विदेश दौरे पर होने के कारण सीएमओ ने चुप्पी साध ली है। माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री के लौटने के बाद इस मामले पर निर्णायक कार्रवाई हो सकती है। इस बीच, यह भी जानकारी मिली है कि पूरा मामला कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की जानकारी में भी दे दिया गया है। खास बात यह है कि कैप्टन के जिस मंत्री पर आरोप लगे हैं, वे लंबे समय से कांग्रेस आलाकमान के बहुत करीबी रहे हैं।