जम्मू-कश्मीर के पत्थरबाजों की राह पर चल पड़े TMC के गुंडे, बंगाल के दमदम में बोले पीएम नरेंद्र मोदी

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) की सरगर्मियों के बीच पश्चिम बंगाल लगातार सुर्खियों में है. इसी क्रम में पश्चिम बंगाल के दम दम में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने लोगों को संबोधित किया है. उन्होंने कहा, आपके इसी स्नेह ने कोलकाता से लेकर दिल्ली तक बड़े-बड़ों की नींद उड़ा रखी है. आज दमदम की ये सभा अपना दम दिखा रही है.

पीएम मोदी (PM Modi) ने आगे कहा, इस चुनाव में पश्चिम बंगाल में मेरी ये आखिरी जनसभा है. बीते 2-3 दिनों से बंगाल के चप्पे-चप्पे में लाखों लोगों से संवाद का मौका मिला है. गांव-गांव, शहर-शहर में जो समर्थन पश्चिम बंगाल ने दिया है वो अविस्मरणीय है. एक दो दिन से दिल्ली में एक खेल चल रहा है. पहले आप-पहले आप. जो पिछले 6 महीने से मोदी हटाओ की बातें करते थे, जो लोग प्रधानमंत्री के दावे ठोंक रहे थे, लेकिन दो दिन से अचानक उनकी बत्ती गुल हो गई है.

 

पीएम ने आगे कहा, इस ऐतिहासिक परिवर्तन के बीच इस चुनाव को लोकतंत्र और संविधान के प्रति दीदी के रवैये की वजह से भी याद किया जाएगा. चुनाव के दौरान यहां भाजपा के अनेक कार्यकर्ताओं की हत्या की गई. अनेक कार्यकर्ताओं पर हमले हुए. घर जला दिए गए. उन्होंने कहा, ममता दीदी पश्चिम बंगाल को अपनी पर्सनल प्रॉपर्टी समझने की भूल कर रही है. दीदी आज आप चुनाव आयोग को गालियां दे रही हैं, चुनाव प्रक्रिया और सुरक्षा बलों को आप जमकर गालियां दे रही हैं. आप भूल रही हैं कि एक समय इन्हीं संस्थाओं ने आपकी मदद की थी.

 

उन्होंने कहा, ममता दीदी देश के लोकतंत्र की मर्यादा, आपके अहंकार से कहीं ज्यादा ऊंची है. हम सभी पर, इस देश के प्रत्येक जनप्रतिनिधि पर, लोकतंत्र की रक्षा करने का भी दायित्व है. आपकी सत्ता जा रही है, आपकी जमीन खिसक चुकी है, पश्चिम बंगाल के लोगों ने आपको नकार दिया है. दीदी इस सच को स्वीकार कर लीजिए और हिंसा का रास्ता छोड़ दीजिए. आप दिन को रात कहने लगेंगी, तो सच्चाई कभी बदल नहीं जाएगी.

 

पीएम नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, दीदी को लगता था कि वो सुप्रीम पावर है, लेकिन बंगाल के जन-गण ने बता दिया है कि सुप्रीम सिर्फ बंगाल की जनता है. बांग्ला मानुष की रग-रग में गणतंत्र है. दीदी और TMC के नेताओं का अहंकार इतना बढ़ गया है कि उन्होंने देश की रक्षा में जुटे सपूतों को भी नहीं छोड़ा है. इनके नेता सरेआम धमकी देते हैं कि सुरक्षा कर्मियों को भगाओ, उनको मारो. यही तरीका जम्मू कश्मीर में पत्थरबाज अपनाते हैं.

 

नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, अरे दीदी, सबको सपने देखने की आजादी है. आपको प्रधानमंत्री पद के सपने देखने की पूरी आजादी है, लेकिन हमारी सेना और सुरक्षाबलों को गाली देने से, उनके खिलाफ गुंडों का उपयोग करने से, आपकी अपनी विश्वसनीयता पर सवाल उठ चुके हैं. ये देश सबकुछ स्वीकार कर सकता है लेकिन अहंकार किसी का भी स्वीकार नहीं करेगा. दीदी आपको यूपी, बिहार और ओडिशा वालों से समस्या है, आप उनके विरोध में खड़ी हो गई हो, लेकिन जो रात के अंधेरे में सीमा को लांघकर, चोरी-छुपे यहां आते हैं, उनसे समस्या नहीं है.

 

पीएम ने आगे कहा, आपके इस व्यवहार से पश्चिम बंगाल के सामान्य मानवी को भी बहुत दुःख हुआ है और इसका जवाब वो 19 मई को कमल का बटन दबाकर देने वाला है. दीदी कान खोल कर सुन लो, ये पश्चिम बंगाल आपकी और आपके भतीजे की जागीर नहीं है. ये मां भारती का एक अटूट अंश है. गंगोत्री से लेकर गंगासागर तक मां गंगा ने जब किसी से भेद नहीं किया, तो दीदी आप कौन होती हो भेद करने वाली.

पीएम मोदी ने कहा, दीदी अगर आप अपनी आंखों से अहंकार और वोट बैंक की पट्टी खोलेंगी तो आपको एक भारत, श्रेष्ठ भारत के दर्शन होंगे. इस भारत के अलग-अलग रंगों को देखने की कोशिश करेंगी तो शायद आपके अहंकार का चश्मा उतर जाएगा. उन्होंने कहा, दुष्टों का संहार करने और मर्यादा में रहने की सीख बंगाल के कण-कण में है, लेकिन दीदी ने बंगाल में क्या हालात बना दिए हैं? जो दुष्ट हैं, जो घुसपैठिए हैं, वो मौज में हैं, लेकिन जो काली के भक्त हैं, जो राम के भक्त हैं वो डर-डर कर जीने को मजबूर हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, जय मां काली और जय श्रीराम कहने भर से ही बंगाल के युवाओं को जेल में ठूंसा जा रहा है. एक मजाक करने भर से ही बेटियों को जेल में भेजा जा रहा है. ये अब नहीं चलेगा. 23 मई को जब फिर एक बार मोदी सरकार आएगी, तब घुसपैठियों का हिसाब होगा. उन्होंने कहा, वो साथी जो मंदिरों, गुरुद्वारों, चर्च में जाते हैं. पूजा पाठ की पद्धति के कारण जिन्हें मजबूरन भारत आना पड़ा है, उनको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. हम नागरिकता कानून में संशोधन करेंगे और आपको भारत की स्थायी नागरिकता देंगे.

पीएम ने आगे कहा, गुरुदेव रबिंद्रनाथ टैगोर ने एक ऐसे राष्ट्र की कल्पना की थी, जहां भय न हो और लोग मस्तक ऊंचा करके रहें. वैसे ही नए हिन्दुस्तान के निर्माण में हम जुटे हैं. इस मिशन में दमदम और पश्चिम बंगाल की बहुत बड़ी भूमिका रहने वाली है. जब हम आतंकवाद की बात करते हैं, हमारे वीर सपूतों के पराक्रम की बात करते हैं तो हमारे विरोधी परेशान हो जाते हैं. देश का चुनाव है और देश में सेना भी है, सीमा भी है, सरकार की देश की रक्षा की जिम्मेदारी भी है तो इन मुद्दों में चर्चा होनी चाहिए या नहीं?.

 

उन्होंने आगे कहा, जब आप कमल के निशान का बटन दबाएंगे, मतलब आप मुझे आतंकवाद को ख़त्म करने के लिए ताकत देंगे. इस चौकीदार को मजबूत बनाएंगे. भगवन श्री कृष्ण के लिए हमारे यहां कहा जाता है सुदर्शन चक्रधारी मोहन और महात्मा गांधी के लिए कहा जाता है चरखाधारी मोहन. आज देश को दोनों मोहन के रास्ते पर चलना है, विकास के लिए चरखाधारी मोहन और सुरक्षा के लिए चक्रधारी मोहन.

पीएम ने आगे कहा, मैं अपने समय का पल पल, मेरे शरीर का कण कण आपके आशीर्वाद के अनुकूल जीने का वादा करने आया हूं और इसलिए आइये एक नया बंगाल बनाने की शुरुआत करें. 19 मई को कितनी भी गुंडागर्दी हो मतदान बूथ पर जरूर पहुंचिए और बटन दबाने का हक़ किसी को मत देना। बटन खुद दबाना जहां आपकी मर्जी हो वहां दबाना। दीदी की बुलेट का जवाब आपका बटन है.