1 जून से चलेंगी 100 जोड़ी ट्रेनें, आज सुबह 10 बजे से ऑनलाइन शुरू होगी बुकिंग

देश भर में पैदल चल रहे मजदूरों के हृदयविदारक दृश्यों के बीच रेलवे की ओर से अच्छी खबर आई है. 1 जून से देश भर में 100 जोड़ी ट्रेनें चलनी शुरू होंगी. यानी आने और जाने वाली कुल 200 ट्रेनें चलेंगी. आज सुबह 10 बजे से आईआरसीटीसी की वेबसाइट से ऑनलाइन टिकट बुकिंग शुरू होगी. टिकट सिर्फ ऑनलाइन ही मिलेंगे. टिकट काउंटर नहीं खुलेंगे.

सभी क्लास के कोच होंगे

हालांकि ये ट्रेनें स्पेशल ट्रेनें ही कहलाएंगी लेकिन इन ट्रेनों में एसी, नॉन-एसी और जनरल कोच भी मौजूद होंगे. लेकिन खास बात ये है कि इनके जनरल कोच के टिकट भी रिजरवर्ड टिकट होंगे. यानी जनरल कोच में भी सीटें पहले से आरक्षित होंगी. और टिकट ऑनलाइन ही मिलेंगे.

रिजर्वेशन के नियम

टिकट अधिकतम 30 दिन एडवांस में खरीदे जा सकते हैं. आरएसी और वेटिंग टिकट भी मिलेंगे. लेकिन तत्काल और प्रीमियम तत्काल बुकिंग नहीं होगी. ट्रेन चलने के समय से दो घंटे पहले तक करंट टिकट ऑनलाइन मिल सकेंगे. ध्यान रहे वेटिंग टिकट दिखा कर ट्रेन में चढ़ना या यात्रा करना सम्भव नहीं होगा.

ये ट्रेनें पहले से चल रही ट्रेनों के अतिरिक्त हैं

पहले से चल रहीं श्रमिक स्पेशल और 15 जोड़ी एसी स्पेशल ट्रेनें पहले की तरह चलती रहेंगी. उनके अलावा ये 100 जोड़ी ट्रेनें भी 1 जून से चलेंगी.

स्टॉपेज सामान्य ट्रेनों की तरह

इन ट्रेनों में स्टॉपेज सामान्य ट्रेनों की तरह ही होंगे. इससे उन मजदूरों और सामान्य लोगों को भी फायदा मिलेगा जो स्टॉपेज ना होने के कारण एसी स्पेशल ट्रेनों में नहीं जा पा रहे थे.

स्टेशन पर दुकानें खुली रहेंगी

सभी स्टेशनों पर खाने-पीने की दुकानें खुली रहेंगी. रेस्टोरेंट से पैक खाना ले जाने को मिलेगा लेकिन बैठने की व्यवस्था नहीं होगी. अगर ट्रेन में पैंट्री कार लगी है तो ट्रेन में भी पैक्ड फूड और पानी खरीदा जा सकेगा.

ये बातें अनिवार्य हैं

यात्रियों को ये जानना जरूरी है कि इन ट्रेनों में मास्क लगाना और मोबाइल में आरोग्य सेतु एप रखना अनिवार्य है. यात्रियों को स्टेशन ट्रेन चलने के समय से डेढ़ घंटे पहले पहुंचना होगा. केवल एसिम्प्टोमैटिक यात्री ही यात्रा कर सकेंगे. जिन्हें कोरोना लक्षणों के कारण यात्रा से रोका जाएगा उसके टिकट का पूरा पैसा वापस होगा.

कंसेशन किन्हें मिलेगा

टिकट में मिलने वाली रियायत सिर्फ 4 कैटेगरी के दिव्यांग जन यात्रियों को मिलेगी और 11 कैटेगरी के बीमार यात्रियों को ही मिलेगी. टिकट रिफंड के सामान्य निगम लागू होंगे.

ट्रेन में कम्बल- चादर नहीं मिलेगी

यात्रियों को चाहिए कि आवश्यकता होने पर अपने साथ एक चादर जरूर ले जाए क्योंकि ट्रेन में कम्बल, चादर और बेडिंग आदि की सुविधा नहीं होगी.