कच्छ सीमा पर पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया, हाई अलर्ट पर AIF

पाकिस्तान के बालाकोट और पीओके में चकोठी और मुजफ्फराबाद में आतंकवादियों के ठिकानों पर हमले के बाद भारतीय वायु सेना पूरी तरह हाई अलर्ट पर है। अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी वायु सेना के दुस्साहस की आशंका को देखते हुए हुए सेना पूरी तरह तैयार है। ऐसी रिपोर्टें हैं कि गुजरात के कच्छ सीमा के समीप पाकिस्तान के एक ड्रोन को मार गिराया गया है। बता दें कि भारतीय वायु सेना के 12 मिराज 2000 ने पाकिस्तान और पीओके के आतंकी कैंपों पर बम बरसाए। पाकिस्तानी मीडिया में चर्चा है कि आईएएफ की इस कार्रवाई में करीब 200 आतंकी मारे गए हैं।

भारतीय वायु सेना ने मंगलवार सुबह साढ़े 3 बजे पाकिस्तान में घुसकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद पर बड़ी कार्रवाई की है। इस ऑपरेशन में 12 मिराज 2000 लड़ाकू विमान ने हिस्सा लिया और एलओसी के पार आतंकी कैंपों पर 1000 किलोग्राम बम गिराए। वायु सेना के सूत्रों अनुसार, कैंपों को पूरी तरह नष्ट कर दिया गया। सूत्रों का कहना है कि वायुसेना के हवाई हमलों में एलओसी के पार बालाकोट, चाकोटी और मुजफ्फराबाद में आतंकी लॉन्च पैड्स पूरी तरह से नष्ट हो गए। जैश-ए-मोहम्मद का कंट्रोल रूम भी नष्ट कर दिया गया है।

गत 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ पर आत्मघाती हमला हुआ और इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए। इस हमले की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि इस हमले के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा और उन्हें उनके किए की सजा मिलेगी। पुलवामा हमले को लेकर जनता में भी भारी आक्रोश था, लोग पाकिस्तान को सबक सिखाने की मांग कर रहे थे।

बता दें कि 18 सितंबर 2016 को उरी में सेना कैंप पर हमले के 11 दिनों बाद भारतीय सेना ने पीओके में 29 अक्टूबर को सर्जिकल स्ट्राइक किया था। भारतीय सेना की इस कार्रवाई में आतंकियों के करीब सात लॉन्च पैड्स तबाह किए गए। पुलवामा में आतंकी हमले के बाद पीएम ने कहा था कि उन्होंने सेना को कार्रवाई के लिए पूरी छूट दे दी है। इसके अलावा पाकिस्तान को अतंरराष्ट्रीय स्तर पर अलग-थलग करने के लिए कदम उठा रहा है।