पैन कार्ड बनवाना होगा और आसान, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिए संकेत

आने वाले समय में पैन कार्ड बनवाना और आसान होगा। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को ऐसा संकेत दिया। वह नीति आयोग में उद्योगपतियों से संवाद कर रहीं थीं। बता दें सरकार आधार की जानकारियां प्रदान करने पर तत्काल ऑनलाइन पैन कार्ड जारी करने की सुविधा इस महीने से शुरू करने जा रही है।

कुछ दिन पहले ही राजस्व सचिव अजय भूषण पांडेय ने कहा था कि फरवरी महीने से इसकी शुरुआत होगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा लोकसभा में एक फरवरी को पेश आम बजट 2020-21 में पैन आवंटन करने की प्रक्रिया को आसान करने का प्रस्ताव किया गया था। बजट में कहा गया था कि इसके लिए आधार के जरिए तत्काल स्थायी खाता संख्या (पैन) जारी करने की सुविधा दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति आयकर विभाग की वेबसाइट पर जाकर इसका लाभ उठा सकता है। उसे इसके लिए आधार संख्या प्रस्तुत करने की जरूरत होगी, इसके बाद उसे आधार के साथ पंजीकृत मोबाइल पर ओटीपी मिलेगा। ओटीपी से आधार की जानकारियों का सत्यापन होगा। इसके बाद तत्काल पैन जारी हो जाएगा और उपभोक्ता अपना ई-पैन डाउनलोड कर सकेंगे।

31 मार्च तक आधार से पैन को जोड़ सकेंगे

सरकार ने पैन धारकों के लिए पैन के साथ-साथ आधार को जोड़ना अनिवार्य कर दिया है। देश में 30.75 करोड़ से अधिक पैन धारक हैं। हालांकि 27 जनवरी 2020 तक 17.58 करोड़ पैन धारकों ने पैन के साथ आधार को नहीं जोड़ा था। इसकी समय सीमा 31 मार्च 2020 को समाप्त हो रही है। नई सुविधा से करदाताओं को आवेदन फॉर्म भरने और उसे कर विभाग में जमा कराने से छुटकारा मिलेगा। कर विभाग को भी डाक के जरिये पैन कार्ड उपभोक्ताओं के पते पर भेजने से छुटकारा मिलेगा।