‘मन की बात’ में बोले PM मोदी, ‘लोकतंत्र हमारे संस्कार और संस्कृति है’

 लोकसभा चुनाव 2019 में शानदार जनादेश के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार रेडियो पर मन की बात कार्यक्रम को संबोधित कर रहे हैं. मन की बात कार्यक्रम के दूसरे संस्करण को संबोधित करने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ‘चार महीने बाद मन की बात वापस लौट आया है, जिसे मैं बेहद पसंद करता हूं.’

जब पढ़ने की बात हो रही है, तभी किसी मीडिया में, मैं केरल की अक्षरा लाइब्ररी के बारे में पढ़ रहा था. आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि ये लाइब्रेरी इडुक्की के घने जंगलों के बीच बसे एक गांव में है.

– देश के प्रधानमंत्री को कोई चिट्ठी लिखे, लेकिन ख़ुद के लिए कुछ मांगे नहीं, ये देश के करोड़ों लोगों की भावना कितनी ऊंची होगी.

– ‘मन की बात’ के लिए जो चिट्ठियां आती हैं उनमें लोग समस्याओं का तो वर्णन करते ही हैं, समस्याओं का समाधान समाजव्यापी कैसे हो, इसकी झलक भी आपकी बातों में मैं महसूस करता हूं.

– ‘मन की बात’ ये भी बताता है कि देश की तरक्की में सारे 130 करोड़ देशवासी मजबूती और सक्रियता से जुड़ना चाहते हैं.

– कई लोगों ने मुझे चुनाव की आपाधापी में, मैं केदारनाथ क्यों चला गया, बहुत सारे सवाल पूछे हैं. आपका हक़ है, आपकी जिज्ञासा भी मैं समझ सकता हूं.

– कई सारे सन्देश पिछले कुछ महीनों में आए हैं जिसमें लोगों ने कहा कि वो ‘मन की बात’ को मिस कर रहे हैं.