प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- कोरोना वॉरियर्स अजेय योद्धा, निश्चित रूप से कोरोना से जंग जीतेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि भले ही कोरोना वायरस एक अदृश्य दु्श्मन है लेकिन हमारे कोरोना वॉरियर्स अजेय योद्धा हैं. उन्होंने एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधन में ऐसा कहा. पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस से देश की जनता लड़ रही है और इसमें कोरोना वॉरियर्स की सबसे अहम भूमिका है.

पीएम मोदी ने कहा कि ये वायरस एक अदृश्य शत्रु हो सकता है लेकिन हमारे कोरोना वॉरियर्स और मेडिकल वर्कर्स अजेय हैं जिन्हें जीता नहीं जा सकता है. अज्ञात शत्रु और अजेय योद्धाओं के बीच चल रही इस लड़ाई में हमारे मेडिकल योद्धा निश्चित रूप से जीत हासिल करेंगे.

पीएम मोदी ने कहा कि मैं ये साफ कर देना चाहता हूं कि हमारे वो योद्धा जो इस बीमारी से सामने से लड़ रहे हैं, उनके खिलाफ किसी तरह की हिंसा, गालीगलौज और अभद्र व्यवहार को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश ने 22 और एम्स के निर्माण में तेज विकास देखा है और इस दिशा में तेज गति से काम हो रहा है. पिछले पांच सालों में हम एमबीबीएस में 30 हजार सीटों को और जोड़ पाने में सक्षम हो पाए हैं और पोस्ट ग्रेजुएशन में 15,000 और सीटों को जोड़ पाए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बेंगलुरु की राजीव गांधी यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज के सिल्वर जुबली कार्यक्रम में ये बातें अपने वीडियो संबोधन के जरिए कहीं. कोरोना वायरस महामारी के दो महीने से ज्यादा के लॉकडाउन के बाद धीरे-धीरे आर्थिक और अन्य सामाजिक गतिविधियों को खोला जा रहा है.

बता दें कि देश में 2 महीने से जारी लॉकडाउन के बाद आज से अनलॉक वन की शुरुआत हो गई है. कल ‘मन की बात’ कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि काफी सारी गतिविधियं को अब खोला जा रहा है. कोरोना वायरस की सबसे बड़ी मार मजदूरों, श्रमिकों पर पड़ी है.