मार्च से इन ट्रेनों में नहीं लगेगा ‘फ्लेक्सी फेयर’, यात्री बढ़ाने के लिए किराए में भी मिलेगी छूट

पूर्व और दक्षिण पूर्व रेलवे ने राजधानी, शताब्दी और दुरंतो एक्सप्रेस जैसी कुछ प्रीमियम ट्रेनों में प्रायोगिक आधार पर ‘फ्लेक्सी फेयर’ हटाने का फैसला किया है. अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. ‘फ्लेक्सी फेयर’ के तहत ट्रेनों में जैसे-जैसे सीटें भरती जाती हैं, उनके किराए में बढ़ोतरी होती जाती है. अधिकारियों ने बताया कि रेल मंत्रालय ने 15 मार्च 2019 से प्रायोगिक आधार पर इन ट्रेनों में फ्लेक्सी फेयर योजना को हटाने का फैसला किया है.

दक्षिण पूर्व रेल के प्रवक्ता संजय घोष ने बताया कि जिन ट्रेनों में महीने में औसतन 50 प्रतिशत से कम सीटें भरती हैं, उनमें छह महीनों के लिए फ्लेक्सी फेयर हटा दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि जिन ट्रेनों में महीने में औसतन 50 से 75 प्रतिशत के बीच सीटें भरती हैं, उनमें से कुछ ट्रेनों में तीन महीने की अवधि (जब यात्रियों की संख्या कम रहती है) के लिए फ्लेक्सी फेयर हटा दिया जाएगा.

घोष ने कहा कि सभी श्रेणियों में मौजूदा 1.5 गुना सीमा घटा कर 1.4 गुना कर दी जाएगी. उन्होंने कहा कि एसी2, एसी3   और एसी चेयर कार में यात्रियों की संख्या बढ़ाने के लिए सभी ट्रेनों में फ्लेक्सी फेयर के साथ अंतिम किराये में 20 फीसदी की श्रेणीबद्ध छूट दी जाएगी.

उन्होंने बताया कि 12277 हावड़ा पुरी शताब्दी एक्सप्रेस में 15 मार्च 2019 से यात्रा के लिए फ्लेक्सी फेयर प्रायोगिक आधार पर छह महीने के लिए पूरी तरह से हटा दिया गया है. उन्होंने बताया कि फरवरी, मार्च और अगस्त के महीनों में 12020 रांची हाावड़ा शताब्दी एक्सप्रेस, 12278 पुरी हावड़ा शताब्दी एक्सप्रेस और 12453 रांची नयी दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस में फ्लेक्सी फेयर हटा लिया जाएगा. पूर्व रेलवे के प्रवक्ता एस महापात्रा ने बताया कि 15 मार्च 2019 से 31 मार्च 2019 तक (पखवाड़े भर के लिए) प्रायोगिक आधार पर 12041 हावड़ा न्यू जलपाईगुड़ी शताब्दी एक्सप्रेस और 12042 न्यू जलपाईगुड़ी हावड़ा शताब्दी एक्सप्रेस में फ्लेक्सी फेयर हटाया गया है.