आंबेडकर की 128वीं जयंती के अवसर पर मार्च से रेलवे चलाएगी ‘समानता एक्सप्रेस’

रेलवे बाबा साहेब आंबेडकर की 128वीं जयंती को मनाने के लिए अगले साल मार्च में एक विशेष रेलगाड़ी ‘समानता एक्सप्रेस’ चलाएगी. यह रेलगाड़ी यात्रियों को बाबा साहब के जीवन से जुड़े स्थलों के साथ-साथ भारत और नेपाल स्थित बौद्ध धर्म स्थलों के दर्शन कराएगी. एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी. यह विशेष पर्यटक रेलगाड़ी अपनी यात्रा 28 मार्च से शुरू करेगी. यह रेलगाड़ी ‘दीक्षाभूमि’ के नाम से मशहूर महाराष्ट्र के नागपुर से चलेगी, जहां उन्होंने अपने कई समर्थकों के साथ 1956 में बौद्ध धर्म स्वीकार कर लिया था. रेलवे की ओर से इससे पहले जारी विज्ञप्ति में इस ट्रेन सेवा की शुरुआत की तारीख 14 अप्रैल,2019 बताई गई थी, जो कि आंबेडकर की जयंती की तारीख है.

इस यात्रा की योजना इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) ने तैयार की है. यह 12 दिन की लंबी यात्रा है और रेलगाड़ी आंबेडकर के जीवन से जुड़े महत्वपूर्ण स्थानों पर जाएगी. इनमें मध्य प्रदेश के महू स्थित उनकी जन्मस्थली, मुंबई और अन्य स्थान शामिल हैं. इसके साथ ही बौद्ध धर्म से जुड़े स्थल बोध गया, सारनाथ, कुशीनगर और नेपाल स्थित लुंबिनी भी इस यात्रा पैकेज में शामिल है.

इस यात्रा पैकेज में रेल यात्रा, बसों से स्थलों की यात्रा, धर्मशाला में रहने की व्यवस्था और शुद्ध शाकाहारी भोजन शामिल होगा. प्रत्येक व्यक्ति को इस यात्रा के लिए 11,340 रुपये का भुगतान करना होगा. ‘समानता एक्सप्रेस’ के लिए यात्री आईआरसीटीसी की पर्यटन वेबसाइट से 10 दिसंबर, 2018 से ऑनलाइन बुकिंग कर सकते हैं. वहीं देश के किसी भी आईआरसीटीसी कार्यालय में इस यात्रा के लिए ऑफलाइन बुकिंग की जा सकती है.