सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा मिलने के बाद कांग्रेस से तोड़ा नाता

1984 सिख दंगा मामले में दिल्ली हाईकोर्ट से उम्रकैद के दोषी करार दिए गए कांग्रेस नेता सज्जन कुमार ने पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. सज्जन कुमार ने मंगलवार को पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिख पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया. पार्टी से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी दी. सोमवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने 1984 सिख विरोधी दंगों से जुड़े मामले में कुमार को दोषी ठहराते हुए उन्हें ताउम्र कैद की सजा सुनाई थी.

उन्होंने पत्र में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से कहा, ‘‘माननीय हाईकोर्ट द्वारा मेरे खिलाफ दिए गए आदेश के मद्देनजर मैं भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से तत्काल इस्तीफा देता हूं.’’

मंगलवार को पहली बार मीडिया के सामने दिखे सज्जन कुमार दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचे थे. मंदिर में दर्शन करने पहुंचे सज्जन कुमार पहले बाहर की दुकान से प्रसाद लेते दिख रहे हैं. इसके बाद वह मंदिर में दर्शन के लिए चले जाते हैं. भगवान के दर्शन करने के बाद सज्जन कुमार जैसे ही अपनी गाड़ी की तरफ चले मीडिया के कैमरों ने उन्हें घेर लिया.

मीडिया वाले लगातार सवाल करते रहे.’सज्जन साब इस केस के बारे में क्या कहेंगे आप? कुछ कहेंगे?’ मीडिया के सवालों को दरकिनार करते हुए सज्जन कुमार बिना कुछ बोले अपनी गाड़ी की तरफ चलते और चुपचाप गाड़ी में बैठ गए. बता दें कि सोमवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने सज्जन कुमार को 1984 सिख दंगों के दौरान पालम राजनगर में 5 सिखों की हत्या के मामले में आपराधिक साजिश और दंगा भड़काने का दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई है.