पठानकोट से दबोचे गए 6 संदिग्धों में से 3 छोड़े गए, एक एमटेक का स्टूडेंट, 3 मूसा के आदमी

पंजाब के पठानकोट जिले में कैंट स्टेशन से दबोचे गए छह संदिग्धों में से तीन युवकों को छोड़ दिया गया है। उनमें से एक एमटेक का स्टूडेंट निकला, वहीं 3 मूसा के आदमी निकले। पुलिस ने रविवार रात करीब आठ बजे जम्मूतवी से अजमेर जा रही पूजा एक्सप्रेस को पठानकोट कैंट रेलवे स्टेशन पर रोककर एक घंटे तक तलाशी ली थी। ट्रेन में सवार छह कश्मीरी युवकों को पुलिस ने शक के आधार पर हिरासत में लिया था।

हालांकि जांच पड़ताल के बाद इनमें से तीन युवकों को छोड़ दिया गया। इनमें से एक स्टूडेंट निकला, जो जोधपुर में एमटेक कर रहा था। वह रविवार सुबह ही अपनी बाइक लेने के लिए घर आया हुआ था। पुलिस ने पठानकोट में उसको जहां बाइक के साथ उतार लिया, वहीं उसके दो अन्य साथियों को भी ट्रेन से उतार लिया। उनसे सीआइए थाना में ले जाकर पूछताछ की गई।

पुलिस जनरल डिब्बे में खोजती रही, संदिग्ध स्लीपर में मिले
पुलिस संदिग्ध लोगों को जनरल कोच से लेकर एसी डिब्बों में तलाशती रही। करीब 1 घंटे ट्रेन के डिब्बों में भटकने के बाद पुलिस को सभी संदिग्ध एस-7 कोच में मिले। पूछने पर उन्होंने जनरल का टिकट दिखाया। पुलिस ने तीनों को हिरासत में लेकर जम्मू से आई पुलिस से पुष्टि करवा अपने साथ पूछताछ के लिए ले गई।

संदिग्धों की पहचान सईद उरवाह अहमद, रहउल्ला रशीद शाह, शहजाद वारु अहमद निवासी पुलवामा कश्मीर के तौर हुई। पुलिस सईद की ओर से जयपुर राजस्थान के लिए बुक कराई गई जम्मू-कश्मीर नंबर की बुलेट मोटरसाइकिल भी पूजा एक्सप्रेस से उतारी।