COVID-19: कोरोना वॉरियर्स के लिए खास सैल्यूट की तैयारी पूरी, वायुसेना का देशभर में होगा फ्लाई पास्ट

कोरोना वायरस के खिलाफ दिन-रात लड़ रहे डॉक्टर्स, नर्स, पैरा-मेडिकल स्टाफ और पुलिसकर्मियों को खास सैल्यूट के लिए सशस्त्र सेनाओं ने पूरी तैयारी कर ली है. थलसेना, वायुसेना और नौसेना अपने अपने तरीके से रविवार को कोरोना-वॉरियर्स के प्रति आभार प्रकट करेंगी.

3 मई यानि रविवार की शुरूआत पुलिस-मेमोरियल पर पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करने से होगी. इसी दौरान श्रीनगर से वायुसेना के फाइटर जेट्स और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट्स का फ्लाई पास्ट शुरू हो जायेगा जो केरल की राजधानी त्रिवनंतपुरम तक जाएगा. ठीक उसी समय असम के डिब्रूगढ़ से भी फ्लाई पास्ट शुरू होगा जो गुजरात के कच्छ तक जाएगा. जानकारी के मुताबिक, ये फ्लाई पास्ट देश के सभी मुख्य शहरों के आसमान से ऊपर होकर निकलेगा.

राजधानी दिल्ली के आसमान में एक खास फ्लाई पास्ट सुबह 10 से 10.30 तक होगा. इसमें भी लड़ाकू विमान और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट शामिल होंगे. एरियल-सैल्यूट के लिए ये विमान 500 मीटर नीचे तक आ जाएंगे. ठीक इसी समय मेघालय विधानसभा के ऊपर से वायुसेना के सुखोई फाइटर जेट फ्लाई पास्ट करते नजर आएंगे.

सुबह 9 बजे से ही वायुसेना और नौसेना के हेलीकॉप्टर्स उन अस्पतालों पर फूलों की वर्षा करेंगे जो खासतौर से कोविड-19 वायरस से लड़ रहे हैं. गुजरात के अहमदाबाद और गांधीनगर में सुबह 9 बजे पुष्प वर्षा होगी. ठीक उसी तरह मुंबई के कस्तूरबा गांधी अस्पताल और नेवी हॉस्पिटल, आईएचएनएस अश्वनी पर भी 10 बजे के आसपास नौसेना के हेलीकॉप्टर फूलों की बरसात करेंगे. नौसेना के हेलीकॉप्टर कोच्चि, गोवा और विशाखापट्टनम में भी अस्पतालों पर पुष्प-वर्षा करेंगे.

थलसेना के बैंड भी सुबह से ही कोरोना वॉरियर्स का उत्साह बढ़ाने के लिए उन अस्पतालों के सामने अपनी प्रस्तुति पेश करेंगे जो कोविड-19 के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं. राजधानी दिल्ली के ऐसे छह अस्पताल है जहां मिलिट्री बैंड डिस्पले होगा. सुबह 10 बजे एम्स, नरेला कोरांटीन सेंटर और ब्रिगेड हॉस्पिटल पर साढ़े दस बजे बेस हॉस्पिटल पर बैड डिस्पले होगा. 11 बजे आर एंड आर हॉस्पिटल और गंगाराम अस्पताल पर मिलिट्री बैंंड अपनी धुन बजाएंगे.

रविवार को कोरोना वॉरियर्स के कार्यों को सरहाने के लिए नौसेना और कोस्टगार्ड के सभी युद्धपोत समंदर में खास फोरमेशन में दिखाए पड़ेंगे. गुजरात के पोरबंदर से लेकर मुंबई, गोवा, कारवार, कोच्चि, चेन्नई, विशाखापटट्नम और कोलकता तक करीब दो दर्जन जगहों पर शाम 7 बजे से सभी युद्धपोत और बंदरगाहों को खास रोशनी से जगमगाया जाएगा.

आपको बता दें कि चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने शुक्रवार को एक विशेष प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि जिस तरह कोरोना महामारी की शुरूआत से ही हमारे देश के डॉक्टर्स, नर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ, वैज्ञानिक और सेनिटेशन-वर्कर्स ने दिन-रात काम किया है वो काबिले-तारीफ है. साथ ही उन्होनें देशवासियों का भी आभार जताया जो इस मुश्किल घड़ी में सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस का पालन कर रहे हैं. यही वजह है कि तीनों सेनाएं (थलसेना, वायुसेना और नौसेना) ‘देशहित’ में उनके पीछे खड़े हैं. इसीलिए तीनों सेनाएं (थलसेना, वायुसेनी और नौसेना) कोरोना वॉरियर्स को अपने अपने अंदाज में आभार प्रकट कर रही हैं.

इस प्रेस कांफ्रेंस में सीडीएस के साथ साथ थलसेना प्रमुख, जनरल एम एम नरवणे, वायुसेना प्रमुख आर के एस भदौरिया और नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह भी मौजूद थे.