जम्मू से दिल्ली जा रही पूजा एक्सप्रेस से 6 संदिग्ध पठानकोट में गिरफ्तार,जम्मू पुलिस से मिला था इनपुट

पठानकोट जिला पुलिस और जीआरपी ने रविवार रात जम्मू से अजमेर जा रही पूजा सुपरफास्ट (12414) को पठानकोट कैंट स्टेशन पर रोक कर 6 संदिग्ध युवकों को हिरासत में लिया है। तीन लोगों को एसपी हेमपुष्प शर्मा अपने साथ ले गए और 3 युवकों को जीआरपी के हवाले कर दिया गया। पुलिस और जांच एजेंसियां संदिग्धों से पूछताछ में जुटी हैं।

जानकारी के मुताबिक रात 8 बजे के करीब पठानकोट पुलिस को सूचना मिली की अजमेर जाने वाली पूजा ट्रेन में कुछ संदिग्ध लोग हैं। करीब 8:05 पर पठानकोट कैंट पहुंची ट्रेन को पुलिस ने घेर लिया और स्टेशन को सीलकर लोगों को ट्रेन में चढ़ने-उतरने नहीं दिया। तकरीबन एक घंटे चली सर्च के बाद पुलिस ने एस-7 कोच से 3 संदिग्ध युवकों और उनके पास वाली सीट पर बैठे 3 अन्य कश्मीरी लोगों को भी पूछताछ के लिए उतार लिया।

जिन लोगों के बारे में पुलिस को सूचना मिली थी उन्हें एसपी ऑपरेशन हेमपुष्प शर्मा अपने साथ सीआईए स्टाफ थाने ले गए और पूछताछ शुरू की और संदिग्ध लोगों के पास बैठे 3 कश्मीरी युवकों को पूछताछ के लिए जीआरपी के हवाले कर दिया।

पुलिस जनरल में खोजती रही, संदिग्ध स्लीपर में मिले     
पुलिस संदिग्ध लोगों को जनरल कोच से लेकर एसी डिब्बों में तलाशती रही। करीब 1 घंटे ट्रेन के डिब्बों में भटकने के बाद पुलिस को सभी संदिग्ध एस-7 कोच में मिले। पूछने पर उन्होंने जनरल का टिकट दिखाया। पुलिस ने तीनों को हिरासत में लेकर जम्मू से आई पुलिस से पुष्टि करवा अपने साथ पूछताछ के लिए ले गई। संदिग्धों की पहचान सईद उरवाह अहमद, रहउल्ला रशीद शाह, शहजाद वारु अहमद निवासी पुलवामा कश्मीर के तौर हुई है। पुलिस सईद की ओर से जयपुर राजस्थान के लिए बुक कराई गई जम्मू-कश्मीर नंबर की बुलेट मोटरसाइकिल भी पूजा एक्सप्रेस से उतारी है। बताया गया कि पुलिस ने पूजा एक्सप्रेस से करीब 16 कश्मीरी लोगों को उतारा है।

अखरोट बेचने जा रहे थे पुलिस ने पकड़ लिया

पूछताछ के लिए उतारे गए गांव बनकूट जिला रामबन निवासी तनवीर अहमद, नौगांव जिला रामबन निवासी जुल्फी और गांव बनकूट जिला रामबन निवासी फरीद डार ने बताया कि उन्हें दिल्ली होते हुए से बुलंदशहर जाना था। अब दोबारा टिकट पर पैसे खर्च कर दिल्ली जाना पड़ेगा। तीनों ने पुलिस को बताया कि संदिग्ध युवकों के साथ उनका कोई लेना देना नहीं है, वह तो अखरोट बेचने का काम करते हैं। फिलहाल जीआरपी ने उन्हें कैंट स्टेशन पर ही रखा है। जीआरपी थाना प्रभारी पलविंद्र सिंह ने बताया कि इनपुट मिलने पर एसपी ऑपरेशन आए और ट्रेन में सर्च शुरू करवाई थी। 3 कश्मीरी युवकों को अरेस्ट कर अपने साथ ले गए और 3 से हमें पूछताछ को कहा है।