देश को डराकर जिन्होंने जेल बना डाला था, वे अब अदालतों के चक्कर लगा रहे : मोदी

परोक्ष रूप से गांधी-नेहरू परिवार पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि जिन्होंने देश को डराकर इसे जेल बना डाला था, वे अब अदालतों के चक्कर लगा रहे हैं। ‘नया भारत युवा सम्मेलन’ को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि किसी ने नहीं सोचा था कि एक ‘चायवाला’ उन्हें चुनौती देगा। कांग्रेस और विपक्षी दलों के प्रस्तावित गठबंधन पर श्रोताओं के सवाल पर मोदी ने कहा कि जब वह सत्ता में आए थे तो उन्होंने भ्रष्टाचार खत्म करने का फैसला किया था। उन्होंने कहा, ‘‘आपने चार पीढ़ियां देखी हैं, जिनके नाम से ही देश डर जाता था। उनकी ताकत ऐसी थी कि उन्होंने देश को (आपातकाल के दौरान) 18 महीने तक जेल बना डाला था। किसी ने नहीं सोचा था कि एक चायवाला उन्हें चुनौती देगा।’’ मोदी ने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि आपको पता होगा कि वे जमानत पर चल रहे हैं।’’ संभवत: उन्होंने नेशनल हेराल्ड मामले का हवाला दिया, जिसमें राहुल और सोनिया गांधी जमानत पर हैं । उन्होंने कहा, ‘‘आपको पता है कि वे जमानत पर चल रहे हैं। उनके दरबारी अदालतों के चक्कर लगा रहे हैं। मुझे विश्वास है, मुझे 125 करोड़ लोगों का आशीर्वाद प्राप्त है…चाहे वे अदालतों के कितने भी चक्कर लगा लें, एक दिन उन्हें जाना होगा। जिन्होंने देश को लूटा है, उसे लौटाना होगा।’’ एक तरह से आगामी लोकसभा चुनावों के प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने ‘‘निराशा की जगह आशा’’ जगाकर ‘‘बदलाव’’ लाने का काम किया है। मोदी ने कहा, ‘‘आतंकवादियों ने 26/11 को मुंबई पर हमला किया। उसके बाद क्या हुआ? श्रद्धांजलि दी गयी, मोमबत्ती जुलूस निकाले गए। हमारी सरकार के कार्यकाल के दौरान उरी (आतंकवादी) हमला हुआ। उसके बाद क्या हुआ ? श्रोताओं ने इसका जवाब दिया, ‘‘सर्जिकल स्ट्राइक।’’ प्रधानमंत्री ने 2014 में यह ‘‘बदलाव’’ लाने का श्रेय वोटरों को दिया। उन्होंने कहा, ‘‘इस बदलाव के पीछे की वजह आपका वोट है। इसने मुझे पांच साल तक व्यस्त रखा। आपका एक वोट मुझे देश के लिए कुछ करने की प्रेरणा देता है।’’ पिछली सरकारों पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस की अगुवाई वाले गठबंधन के 10 साल भ्रष्टाचार से घिरे रहे। कथित कोयला घोटाले और 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले का जिक्र करते हुए मोदी ने परोक्ष तरीके से गांधी परिवार पर निशाना साधा और कहा, ‘‘और आप जानते हैं कि यह ‘जी’ कहां तक जाता है।’ मोदी ने कहा कि उनकी सरकार विपक्ष की नकारात्मकता का सकारात्मकता से मुकाबला कर रही है । यह पूछे जाने पर पहली बार मतदान करने वालों को वह क्या सलाह देंगे, इस पर मोदी ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र जीवंत है लेकिन राजनीतिक दलों की मानसिकता प्राचीन है । उन्होंने कहा कि लोगों की समस्याओं पर ध्यान देने की बजाए विपक्ष उनके बारे में ही सोचता रहता है। मोदी ने कहा कि नयी पीढी को पता होना चाहिए ‘‘देश को 70 साल तक किस तरह लूटा गया ।’’