सेना में कोरोना वायरस के तीन मामले सामने आए, कर्नल रैंक के डॉक्टर और जेसीओ भी पॉजिटिव

सेना के कोलकता स्थित कमांड हॉस्पिटल के एक कर्नल रैंक के डॉक्टर और देहरादून स्थित जेसीओ कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं.‌ खास बात ये है कि दोनों ने ही हाल में दिल्ली की यात्रा की थी. यही वजह है कि जिन जिन सैनिकों के संपर्क में ये दोनों आए थे उन्हें कोरांटीन (क्वारंटीन) कर दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव पाए वाले कर्नल रैंक के डॉक्टर सेना की पूर्वी कमांड (कमान) के मिलिट्री हॉस्पिटल में तैनात थे. संक्रमित पाए जाने के बाद पीड़ित कर्नल को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. देहरादून स्थित जेसीओ (सूबेदार रैंक के अधिकारी)को भी इलाज के लिए हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया गया है.

‌सेना के मुताबिक, दोनों संक्रमित सैन्य अधिकारी स्वस्थ और स्थिर है, लेकिन क्योंकि दोनों ने संक्रमित होने से पहले अपने काम के सिलसिले में दिल्ली यात्रा की थी यही वजह है कि उनके संपर्क में आए सभी सिविल और मिलिट्री अधिकारियों की पहचान कर उन्हें कोरांटीन कर दिया गया है.

सेना में कोविड-19 संक्रमण के अब तीन मामले
आपको बता दें कि सेना में कोविड-19 संक्रमण के अब तीन मामले हो चुके हैं. इससे पहले लद्दाख में तैनात एक सैनिक का लेह स्थित अस्पताल में इलाज चल रहा है. उसके पिता ने हाल ही में ईरान की यात्र की थी और वे भी कोरोना वायरस से ग्रस्त पाए गए थे. ये सैनिक भी छुट्टी पर अपने घर गया हुआ था. हालांकि सेना ने उन खबरों का खंडन किया जिसमें कहा गया था कि श्रीनगर स्थित टेरिटोरियल आर्मी का एक जवान पॉजिटिव पाया गया है. सेना के श्रीनगर स्थित प्रवक्ता, कर्नल राजेश कालिया के मुताबिक, जवान को कुछ लक्षण पाए गए थे लेकिन टेस्ट में वो निगेटिव पाया गया.

बीएसएफ के कमांडेंट भी पॉजिटिव पाए गए
इस बीच खबर आई है कि बीएसएफ के कमांडेंट भी पॉजिटिव पाए गए हैं. ये कमांडेंट बीएसएफ की मध्यप्रदेश स्थित टेकनपुर एकेडमी में तैनात हैं और उनकी पत्नी कुछ दिनों पहले इंग्लैंड से लौटी थीं. ये कमांडेंट बीएसएफ की टेकनपुर स्थित कोरांटीन फैसिलिटी के इंचार्ज भी थे.

मुंबई एयरपोर्ट पर तैनात सीआईएसएफ के जवान भी कोरोना वायरस से संक्रमित
आपको बता दें कि शनिवार को ही खबर आई थी कि मुंबई एयरपोर्ट पर तैनात सीआईएसएफ के जवान भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. जवान को कुछ दिन पहले ही लक्षण पाए जाने के पाद आईसोलेशन सेंटर भेज दिया गया था और पॉजिटिव आने पर मुंबई के ही अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है.