अवैध रूप से चल रहे VOIP एक्सचेंज का भंड़फोड़, कई सुरक्षाबलों को संदिग्ध नंबरों से आए थे कॉल

केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में जहां भारत और चीन की सेनाएं आमने सामने हैं, वहीं जम्मू कश्मीर मिलिट्री इंटेलिजेंस और मुंबई क्राइम ब्रांच ने मुंबई में अवैध रूप से चल रहे एक वीओआईपी एक्सचेंज का भंड़फोड़ किया है. गौरतलब है कि इसी साल मई में महीने में सुरक्षाबलों से जुड़े कई जवानों और अधिकारियों को कुछ संदिग्ध टेलीफोन नंबरो से कॉल आयी थी, जिनमे उनसे लद्दाख और अहम रक्षा प्रतिष्ठान से जुड़ी अहम जानकारिया मांगी गयी थीं.

बता दें कि इसी महीने सेना के कई अधिकारियों और जवानों को कई संदिग्ध नंबरो से कॉल्स आयी थी, जिनमें उनसे लद्दाख और रक्षा प्रतिष्ठान से जुड़ी अहम जानकारिया मांगी गयी थीं. जिन लोगों द्वारा यह टेलीफोन कॉल्स की गयी उन्होंने अपनी फ़र्ज़ी पहचान बताई, इसलिए इस मामले में आईएसआई की भूमिका से इंकार नहीं किया जा सकता.

अभी तक की जांच में सामने आया है कि मुंबई में चलाये जा रहे ऐसे वीओआईपी एक्सचेन्ज में पाकिस्तान से आ रही कॉल्स को स्थानीय नंबरो पर रूट किया जाता था, जिसके बाद सुरक्षाबलों से जुड़े अधिकारियों और जवानों से खुफिया जानकारी जुटाने का प्रयास किया जा रहा था.

इस एक्सचेंज में चीन में बने सिम बॉक्सेस के द्वारा अंतर्राष्ट्रीय वॉयस कॉल्स को स्थानीय कॉल्स में बदल दिया जाता था. चीन में बने इन बॉक्सेस में डायनामिक आईएमईआई प्रणाली का इस्तेमाल किया जाता था जिससे इनकी ट्रैकिंग बहुत मुश्किल होती है. इस सिस्टम को टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया ने अवैध घोषित किया है. अब तक की जांच में यह भी सामने आया है कि इन एक्सचैंजों के द्वारा दूरसंचार विभाग को करोड़ों रुपये का नुक्सान हुआ है.