भारतीय रेल पटरियों के पास घनी आबादी की सुरक्षा के लिए बनेगी दीवारें

देश में कई स्थानों पर रेल पटरियों के पास ही काफी घनी आबादी पाए जाते हैं. इन आबादियों को सुरक्षित करने के लिए नई योजना बनाई गई है. रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक अरूण कुमार ने कहा कि भारतीय रेलवे पटरियों के आसपास घनी आबादी वाले क्षेत्र में एक परियोजना के तहत पक्की दीवारें बनायेगा.

उन्होंने रविवार को संवाददाताओं को कि रेलवे सुरक्षा बल को सम्पूर्ण भारतीय रेलवे के ऐसे क्षेत्रों की पहचान करने का कार्य दिया गया है, जहां पटरियों के आसपास घनी आबादी है और गैर कानूनी तरीके से लोग ट्रैक पार करते है. कुल 3000 किलोमीटर रेलवे लाइनों के आसपास एक परियोजना के तहत दीवारें बनायी जायेगी.

उन्होंने बताया कि स्टेशनों और ट्रेनों में सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिये सीसीटीवी कैमरे चरणबद्ध प्रक्रिया के तहत लगाये जा रहे हैं तथा आने वाले समय में सभी स्टेशनों तथा ट्रेनों की सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी इनके माध्यम से की जायेगी.

कुमार ने बताया कि रेल यात्रा के दौरान सामान चोरी होने की शिकायतें अधिक आती हैं. इसको ध्यान में रखकर मोबाइल एप विकसित किया जा रहा है, जिसके माध्यम से चलती ट्रेन में भी यात्री अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है. इस पर समयानुसार कार्यवाही करना संभव होगा.

उन्होंने बताया कि पिछले दिनों त्यौहारी सीजन में टिकट दलाली तथा ई-टिकट प्रणाली के माध्यम से गैर कानूनी तरीके से टिकट बुक करवाने वाले एजेंटों पर पूरे देश में एक साथ छापे मार कर कार्रवाई की गई.

उन्होंने बताया कि पहले रेलवे सुरक्षा बल के पास रेलवे सम्पति से जुडे विषय ही क्षेत्राधिकार में आते थे. अब यात्री सुरक्षा का कार्य भी रेलवे सुरक्षा बल के पास है. इसके लिये राजकीय रेलवे पुलिस के साथ समन्वय स्थापित कर कार्य को बेहतर तरीके से निष्पादित किया जा रहा है.