सेना प्रमुख ने कश्मीरी छात्राओं से कहा, ‘सेना के ‘सुपर30’ कोचिंग कार्यक्रम में कड़ी मेहनत करें’

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने जम्मू कश्मीर की छात्राओं का उत्साहवर्धन करते कहा कि वे सेना के ‘सुपर30’ कोचिंग कार्यक्रम को पूरी मेहनत तथा लगन के साथ पूरा करें और बेहतर शिक्षा के जरिए अपना भविष्य संवारे.  वह यहां साउथ ब्लॉक में घाटी के विभिन्न स्कूलों से आईं 18 छात्राओं से बातचीत कर रहे थे. उन्होंने कहा,‘जब खूबसूरत जगहों की बात आती है तो कश्मीर से सुंदर दूसरी कोई जगह नहीं है लेकिन आतंकवाद ने इसके वातावरण को बिगाड़ दिया है.’

जनरल रावत ने कहा,‘कश्मीर की तरह आप दिल्ली में कहीं नहीं देखेंगे कि बंकर बने हैं या फिर हर जगह बंदूकधारी सुरक्षा में लगे हैं. लोग यहां रात में भी शांति से घूम फिर रहे हैं. कश्मीर घाटी में भी शांति थी और श्रीनगर में लोग रात में बागों में जाते थे या फिर फिल्म देखने जाया करते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होता.’

‘पाकिस्तान से घुसपैठिये हमारे इलाके में आ जाते हैं’ 
उन्होंने कहा,‘पाकिस्तान से घुसपैठिये हमारे इलाके में आ जाते हैं और समस्याएं पैदा करते हैं.’ उन्होंने कहा कि जिंदगी में बेहतर करने का एक ही उपाय है. यह है मेहनत करना और इसके सिवा कोई दूसरा रास्ता नहीं है.

सेना प्रमुख ने कहा,‘कश्मीर सुपर-30, छात्रों के लिए एक निशुल्क में चलने वाला विशेष कोचिंग कार्यक्रम है ताकि उन्हें आईआईटी और एनआईटी में प्रवेश परीक्षा के लिए तैयार किया जा सकें.’