Coronavirus: अलग-अलग राज्यों से मज़दूरों का जम्मू पहुंचना जारी, किया जाएगा क्वारंटाइन

देश के अन्य राज्यों में मज़दूरी कर रहे जम्मू कश्मीर के हज़ारों लोग जम्मू के प्रवेश द्वार कठुआ के लखनपुर पहुंच रहे है. वहीं, पुलिस का दावा है कि रविवार दोपहर बाद तक ऐसे करीब 600 लोगों को कठुआ और साम्बा के क्वारंटाइन केन्द्रों में भेजा जा चुका है और मज़दूरों की यह भीड़ लगातार बढ़ रही है.

जम्मू कश्मीर के प्रवेश द्वार लखनपुर में रविवार सुबह से ही पंजाब, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली और राजस्थान समेत अन्य राज्यों में काम कर रहे लोगों का पहुंचना जारी है. लोगों के इस तरह बॉर्डर पर पहुंचते ही कठुआ पुलिस और प्राशसन फ़ौरन हरकत में आया और इन सभी लोगों को क्वारंटाइन केन्द्रों के भेजने की व्यवस्था की जा रही है.

कठुआ के एसएसपी शैलेंद्र मिश्रा खुद इस ऑपरेशन की निगरानी कर रहे हैं. एबीपी न्यूज़ से बातचीत में उन्होंने कहा कि रविवार सुबह से ही देश के दूसरे राज्यों में काम कर रहे जम्मू कश्मीर के लोगों का आना जारी है. उन्होंने कहा कि इन लोगों को कठुआ में बने 28 क्वारंटाइन केन्द्रों में भेजा जा रहा है और सभी लोगों को क्वारंटाइन करने के लिए पड़ोसी ज़िले साम्बा में बने केन्द्रों की भी मदद ली जाएगी. उन्होंने कहा कि जम्मू पहुंच रहे इन लोगों में से किसी को भी बिना क्वारंटाइन के प्रदेश में जाने नहीं दिया जायेगा.

बता दें कि जम्मू को कोरोना वायरस के संक्रमण से रोकने के लिए युद्धस्तर पर स्प्रेइंग, सैनिटाइजेशन और स्टरलाइजेशन का अभियान चलाने के साथ ही अब जम्मू नगर ने लॉकडाउन से प्रभावित परिवारों की मदद के लिए भी हाथ बढ़ाया है. जम्मू नगर निगम के शहर के झोपड़ पट्टी और बस्तियों में रह रहे परिवारों तक राशन पहुंचाने का काम भी शुरू किया है.

जम्मू नगर निगम की तरफ से करवाए गए एक सर्वे के मुताबिक शहर की 11 ऐसी बस्तियों की पहचान की गयी है, जहां रह रहे गरीब और लॉकडाउन से प्रभावित परिवारों तक मदद पहुंचाई जाएगी. इसके पहले चरण में रविवार को जम्मू नगर निगम ने तीन बस्तियों में रहने वाले लोगों तक राशन के 300 किट पहुंचाए.