सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील ने कहा- सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान, लेकिन हम संतुष्ट नहीं

अयोध्‍या केस (Ayodhya Case) को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने आज अपना ऐतिहासिक फैसला सुनाया. कोर्ट ने कहा कि केंद्र सरकार तीन महीने में मंदिर निर्माण की योजना बनाएं. कोर्ट ने मस्जिद के लिए अलग जमीन देने का आदेश दिया. फैसले पर सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील जफरयाब जिलानी ने कहा कि हम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं लेकिन हम इस फैसले से संतुष्ट नहीं हैं.

समाचार एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक, कोर्ट के बाहर जिलानी कहा कि हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं लेकिन हम इससे संतुष्ट नहीं हैं. उन्होंने कहा कि कोर्ट का फैसला पढ़कर हम आगे की रणनीति तैयार करेंगे.
उन्होंने कहा कि, कोर्ट का फैसला देश में सामाजिक सौहार्द बानाए रखने के पक्ष में हैं. कोर्ट ने जो ऑब्जरवेशन दिए हैं उनमें से कुछ प्वाइंट से हम सहमत नहीं है. उन्होंने कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की मीटिंग में हम आगे की रणनीति तैयार करेंगे.
जफरयाब जिलानी ने देशवासियों से शांति बनाए रखने की अपील की.