लद्दाख के बाद फिर चीन की साजिश, अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर सैनिकों की तैनाती बढ़ाई

पूर्वी लद्दाख के बाद चीन चीन अब अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर अपनी तैनाती बढ़ा रहा है. इंटेलिजेंस एजेंसियों ने सरकार को रिपोर्ट दी है कि चीन की पीएलए यानी वहां की सेना अरुणाचल प्रदेश से सटी सीमा पर सैनिकों की तादाद को बढ़ा रही है. इस रिपोर्ट में खासतौर पर अरुणाचल प्रदेश के सुबांसरी इलाके के ठीक सामने वाले तिब्बत के लुंग पीएलए में एक नया हैलिपैड तैयार करने की बात है.

LAC की तैनाती के लिए चीन ने ड्रोन तैनात किए

इसके साथ ही चीन ने अरुणाचल प्रदेश से सटे एलएसी की निगरानी के लिए ड्रोन कैमरे भी तैनात किए हैं. बता दें कि आज ही सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे तेजपुर से लौटे हैं जिसके अंतर्गत पूरे अरुणाचल प्रदेश के सुरक्षा की जिम्मेदारी है. इसलिए थलसेना प्रमुख का ये दौरा हुआ था.

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ हुए झड़प में भारत के बीस जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति बन गई. चीन के सैनिक भी भारी संख्या में हताहत हुए थे लेकिन उसने आंकड़े नहीं जारी किए.

इसके बाद दोनों देशों के बीच सीमा पर शांति बहाल करने के लिए कमांडर लेवल की कई बैठके हुईं. बैठक के दौरान चीन शांति बहाल करने पर सहमति तो जताता है लेकिन उसकी कथनी और करनी में फर्क साफ नजर आ रहा है.