कांग्रेस ने की PoK से विस्थापितों के लिए ‘2014 पैकेज’ लागू करने की मांग

कांग्रेस ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से विस्थापित हुए लोगों से सम्पर्क किया जो ‘2014 पैकेज’ लागू करने की मांग को लेकर 27 दिसम्बर से यहां अनिश्चितकालीन क्रमिक धरने पर थे। कांग्रेस ने केंद्र से इन लोगों से बातचीत करने का आग्रह किया। पीओके से विस्थापित लोग विभिन्न मांगें ‘पूरी’ नहीं करने को लेकर राज्य और केंद्र सरकारों के खिलाफ यहां क्रमिक अनशन पर हैं। इसमें अक्टूबर 2014 में जम्मू कश्मीर कैबिनेट द्वारा मंजूर 2014 पैकेज शामिल हैं।

जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के उपाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री श्याम लाल शर्मा ने कहा,‘हमारी कांग्रेस नेशनल कॉन्फ्रेंस सरकार ने पीओके से विस्थापित लोगों के लिए 2014 में करीब 9096 करोड़ रुपये के एक पैकेज की सिफारिश की थी। प्रत्येक परिवार को 25 लाख रुपये दिए जाने थे और उनके बच्चों को पेशेवर कालेजों में आरक्षण। यद्यपि कुछ भी नहीं किया गया।’

शर्मा ने दावा किया कि इसके विपरीत केंद्र ने 2000 करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की जिसे भी अक्षरश: लागू नहीं किया गया। पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा,‘भारत सरकार आतंकवादियों और भारत विरोधी नारे लगाने वालों से बात कर सकती है तथा आतंकवादियों और पथराव करने वालों को रिहा कर सकती है, लेकिन हमसे बात नहीं कर सकती जो कि जो देशभक्त भारतीय हैं।’

कांग्रेस नेता ने कहा कि भारत सरकार को उनसे बात करनी चाहिए और वह प्रधानमंत्री से आग्रह करते हैं कि उनकी मांगें पूरी करने के लिए उनसे बात करें। पीओके से विस्थापित लोगों की मुख्य मांग ‘2014’ पैकेज लागू करना है।