मां वैष्णो देवी की यात्रा में बाहर के 500 श्रद्धालुओं को ही अनुमति, ऑनलाइन होगा पंजीकरण

मां वैष्णो देवी समेत प्रदेश के सभी धार्मिक स्थल 16 से खुल जाएंगे। इसके लिए सरकार की ओर से एसओपी जारी कर दी गई है। वैष्णो देवी यात्रा पर रोजाना पांच हजार श्रद्धालु ही जाएंगे। इनमें प्रदेश के बाहर से आने वाले केवल 500 यात्रियों को अनुमति होगी। 

पंजीकरण ऑनलाइन ही होगा ताकि काउंटर पर भीड़ न होने पाए। मां वैष्णो देवी यात्रा के लिए विशेष दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। श्राइन बोर्ड के सीईओ तथा रियासी की जिला उपायुक्त इनका पालन सुनिश्चित कराएंगे। 

एसओपी के अनुसार वैष्णो देवी में 30 सितंबर, 2020 तक प्रतिदिन 5000 श्रद्धालु भेजने की इजाजत होगी। प्रदेश से बाहर से आने वाले सभी श्रद्धालु का प्रोटोकाल के तहत 100 फीसदी कोविड एंटीजन टेस्ट होगा। 

रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही यात्रा की इजाजत होगी। इसी तरह रेड जोन से आने वाले यात्रियों का भी रैपिड टेस्ट होगा। यात्रा के लिए रिपोर्ट निगेटिव होना जरूरी होगा। यात्रा मार्ग पर कई जगह रैपिड एंटीजन टेस्ट (आरएटी) की सुविधा मुहैया करवाई जाएगी।