J&K: पीडीपी की बैठक विफल, सरकार ने नहीं दी नेताओं को घर छोड़ने की इजाजत

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की आज सुबह कश्मीर घाटी में होने वाली बैठक नहीं हो पाई। जिला प्रशासन के आदेश पर पुलिस ने पार्टी के कई नेताओं को घर से बाहर जाने ही नहीं दिया। यह बैठक सुबह 11 बजे होनी थी। पीडीपी के प्रवक्ता मोहित भान ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि बैठक में सभी जिला-स्तरीय नेताओं को बुलाया गया था। पार्टी के कई प्रमुख नेताओं को बैठक में शामिल होने के लिए घरों से निकलने की इजाजत ही नहीं दी गई। इन नेताओं में जीएनएल हंजुरा, अब्दुल रहमान वीरी, नईम अख्तर, सरताज, खुर्शीद आलम, ऐजाज मीर, वहीद रहमान पारा और मोहम्मद यूसुफ भट शामिल हैं।

पार्टी के वरिष्ठ नेता नईम अख्तर ने अपने टाइम लाइन पर वीडियो भी शेयर की है जिसमें उनकी सुरक्षा में तैनात पुलिस जवान उन्हें घर से बाहर जाने से रोक रहे हैं। वीडियों में पुलिसकर्मी उनसे कह रहा है कि “सर, आपको बाहर जाने की अनुमति नहीं है। “पुलिसकर्मियों में से एक को वीडियो में कहते हुए सुना जा सकता है। नईम अख्तर ने उन्हें रोकने के लिए दिए गए आदेश का लिखित आर्डर दिखाने को भी कहा। पर जब पुलिसकर्मी ने कोई जवाब नहीं दिया तो नईम अख्तर ने पुलिसकर्मी से पूछा कि क्या वह पैदल चल कर जा सकते हैं तो उन्हें फिर से रोक दिया गया।

बाद में नईम अख्तर ने अपने ट्विटर पर लिखा, “हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में सरकार द्वारा दिखाए गए दस्तावेजों में वह आजाद हैं परंतु सच तो यह है कि पीडीपी के अधिकतर नेता गैरकानूनी बंदी है। आज जारी की गई यह वीडियो – इस बात का सीधा प्रमाण है कि न तो मुझे और न ही उनके साथियों को बैठक में शामिल होने की अनुमति दी गई।