कोरोना का असर: इस बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के कार्यक्रम में पीएम मोदी के शामिल होने पर संशय

आयुष मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 21 जून को लेह में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के कार्यक्रम में भाग लेना था, लेकिन कोरोना वायरस की महामारी के कारण उनकी यात्रा को लेकर संशय है. गौरतलब है कि पहले मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा था कि 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के कार्यक्रम में भाग लेने पीएम मोदी लेह जाएंगे.

आयुष मंत्रालय के सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने कहा कि कोविड-19 के खतरे के कारण अब कोई कार्यक्रम नहीं होगा. अधिकारी ने कहा, ‘‘यह अभी तय नहीं हुआ है, कि क्या प्रधानमंत्री एक कार्यक्रम में भाग लेंगे. इससे पहले यह फैसला लिया गया था कि वह लेह जायेंगे, लेकिन अब कोविड-19 संकट के कारण, अभी यह तय नहीं हुआ है कि वह लेह जाएंगे या नहीं.”

उन्होंने आगे कहा, मुख्य कार्यक्रम एक मेगा इवेंट होगा, लेकिन यह डिजिटल होगा. हालांकि, इस पर अभी भी काम किया जा रहा है.

‘घर पर योग और परिवार के साथ योग’

केंद्र सरकार ने अपने बयान में कहा कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर इस साल का अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस डिजिटल मीडिया मंच पर मनाया जाएगा और जनसमूह की मौजूदगी वाला कोई कार्यक्रम नहीं होगा. गौरतलब है कि सरकार ने इस साल के योग दिवस की थीम ‘घर पर योग और परिवार के साथ योग’ है.

अधिकारियों ने बताया कि विदेशों में भारतीय दूतावास और उच्चायोग भी डिजिटल मीडिया और योग का सहयोग करने वाली संस्थाओं के माध्यम से लोगों तक पहुंच रहे हैं. आयुष मंत्रालय ने पहले लेह में योग दिवस पर बड़े कार्यक्रम की योजना बनाई थी, लेकिन कोरोना महामारी के कारण यह कार्यक्रम उसे रद्द करना पड़ा.

पीएम मोदी की ओर से 31 मई को शुरू की गई ‘मेरा जीवन, मेरा योग’ वीडियो ब्लॉगिंग प्रतियोगिता के अलावा आयुष मंत्रालय और भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (ICCR) ने लोगों को योग के बारे में अवगत कराने और योग दिवस में संक्रिय भागीदार बनने के लिए प्रोत्साहित करने का प्रयास किया है.