लॉकडाउन के बीच सरकारी पेंशन पाने वाले बुज़ुर्गों की ऐसे मदद कर रही है जम्मू पुलिस

कोरोना वायरस को हराने के लिए ज़रूरी लॉकडाउन के दौरान लगी घर से न निकलने की पाबंदियों के चलते जम्मू में सरकार से पेंशन बुज़ुर्गो को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में अब जम्मू पुलिस ऑपरेशन ‘we care’ (वी केयर) के तहत ऐसे बुज़ुर्गो की सहायता के लिए सामने आयी है और इन बुज़ुर्गो को बैंक तक ले जाने का काम आजम दे रही है.

कोरोना वायरस संकट के चलते देशभर में लॉकडाउन लागू है और लोगों के घर से निकलने पर पाबंदी है, जिसके चलते जम्मू में सरकारी पेंशन पाने वाले बुज़ुर्गों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में अब जम्मू पुलिस ‘we care’ अभियान के तहत ऐसे बुज़ुर्गों की सहायता के लिए सामने आई है और इन बुज़ुर्गों को बैंक तक ले जाने का काम कर रही है.

लॉकडाउन में आम लोगों की सहायता के लिए जम्मू पुलिस द्वारा चलाया जा रहा अभियान ‘we care’, अब उन बुज़ुर्गों के लिए वरदान साबित हो रहा है जो लॉकडाउन के चलते अपने घरों से नहीं निकल पाते. इन बुज़ुर्गों में से कई शारारिक रूप से अक्षम हैं और कइयों के पास इतने साधन नहीं हैं कि वो घर से बैंक तक जा सकें.

ऐसे में अब इन बुज़ुर्गों की मदद के लिए जम्मू पुलिस आगे आई है. जम्मू में कई थाना क्षेत्रों में पुलिस ऐसे बुज़ुर्गों के पास पहुंचने के लिए दो तरीके अपना रही है. पहला तरीका ये है कि हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर यह बुज़ुर्ग पुलिस से मदद ले सकते हैं और जो बुज़ुर्ग कॉल करना नहीं जानते उनतक पहुंचने के लिए पुलिस गली गली घोषणा कर रही है, ताकि उन्हें घरों से सीधा बैंक ले जाया जा सके. जम्मू पुलिस ने बैंको के बाहर भी महिलाओं और बुज़ुर्गों के बैठने और पानी का भी इंतज़ाम किया है.

जम्मू पुलिस की इस मुहिम का लोग भी स्वागत कर रहे हैं. लोगों का दावा है कि इस मुहिम के चलते न केवल पेंशन ले रहे बुज़ुर्गों का बैंक पहुंचना आसान हो गया है, बल्कि बैंक में भी लोग सोशल डिस्टेन्सिंग का सख्ती से पालन कर रहे हैं.