जम्मू एवं कश्मीर में व्हाट्सएप के संदिग्ध उपयोग को लेकर 3 सैन्य पोर्टर हिरासत में

जम्मू एवं कश्मीर के पूंछ जिले में संदिग्ध तरीके से व्हाट्सएप का इस्तेमाल करने को लेकर सेना के लिए पोर्टर का काम करने वाले तीन स्थानीय लोगों को सोमवार को सुरक्षा बलों ने हिरासत में ले लिया।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि पुंछ जिले में वहीं के तीन लोग भीम्बर गली इलाके में एक सेना की टुकड़ी में पोर्टर्स के रूप में काम कर रहे थे।उन्होंने आगे कहा, “नियमित निगरानी के दौरान इन व्यक्तियों को संदिग्ध तरीके से व्हाट्सएप का उपयोग करते हुए पाया गया। उनके व्हाट्सएप के इस्तेमाल को ‘संवेदनशील’ माना गया, साथ ही जिन ग्रुप्स में उनके नंबर जुड़े हैं, उससे संदेह और बढ़ गया है।” उन्होंने कहा, “इनसे पूछताछ जारी है, हालांकि अभी तक कुछ सामने नहीं आया है।”

बता दें कि आज ही जम्मू-कश्मीर के त्राल के बाद डोडा डिस्ट्रिक्ट को सुरक्षाबलों ने आतंकियों से मुक्त कर दिया है। सुरक्षाबलों ने अनंतनाग जिले के खुलचोहर में सोमवार तड़के हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों को ढेर कर दिया जिसमें एक कमांडर भी शामिल है।सुरक्षा बलों और जम्मू कश्मीर पुलिस के संयुक्त अभियान में इन आतंकवादियों को मार गिराया गया है। मारे गए आतंकवादियों के पास से एक एके राइफल और दो पिस्तौल बरामद हुई है। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि हिजबुल मुजाहिदीन (एचएम) के कमांडर मसूद को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है जिसके बाद से डोडा पूरी तरह से ‘आतंकवादी मुक्त’ जिला बन गया है।