J&K: अदालत पहुंची एनआईए की टीम, दायर करेगी 5000 से अधिक पन्नों की चार्जशीट

14 फरवरी, 2019 को हुए पुलवामा हमले के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) जम्मू की एनआईए अदालत में 11 आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर करने के लिए पहुंच चुकी है। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली थी।

5,000 से अधिक पन्नों की चार्जशीट डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल सोनिया नारंग और पुलिस अधीक्षक राकेश बलवाल की एक टीम द्वारा जांच के बाद तैयार की गई है। इसमें जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर, उसके भाई अब्दुल रऊफ असगर, आतंकवादी संगठन के कई अन्य आतंकियों और सात गिरफ्तार आतंकियों एवं आरोपियों के नाम शामिल हैं।

अधिकारियों ने कहा कि चार्जशीट में इस हमले में पाकिस्तान की भूमिका के पुख्ता सबूत, तकनीकी, सामग्री और परिस्थितिजन्य साक्ष्य हैं। पाकिस्तान ने एक स्थानीय आतंकी आदिल अहमद डार का इस्तेमाल किया। जिसने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले में विस्फोटक से लदी एक कार से टक्कर मारी थी। जांच में पता चला है कि हमले में इस्तेमाल किया गया आरडीएक्स पाकिस्तान से मंगवाया गया था। जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने भारत में घुसपैठ की थी और एनआईए के पास इसके साक्ष्य भी हैं।

बता दें कि फरवरी में कश्मीर से जैश के सात गुर्गों को गिरफ्तार किया गया था। जिनमें शाकिर बशीर मागरे, मोहम्मद अब्बास राथर, मोहम्मद इकबाल राथर, वैज-उल-इस्लाम, इंशा जान, तारिक अहमद शाह और बिलाल अहमद का नाम है।