करतारपुर कॉरिडोरः कैप्टन अमरिंदर सिंह का खून खौला, बोले- पाक आर्मी चीफ बाजवा बुजदिल

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का फौजी खून उस समय खौल उठा जब वह करतारपुर साहिब कॉरिडोर के नींव पत्थर समारोह में भाषण देने के लिए स्टेज पर आए। उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का धन्यवाद किया और पाक के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा पर करारा हमला बोला।

कैप्टन ने कहा कि मैं भारतीय फौज में 10 वर्ष कमर जावेद बाजवा से सीनियर हूं। 1963 में मैने कमीशन लिया था और मैं तो परवेज मुशर्रफ से भी एक साल सीनियर हूं, वह 1964 में पाक आर्मी में आया था। फौजी को यह कौन सिखाता है कि निर्दोष व मासूमों की हत्या करो, जवानों को गोली मार दो। बार्डर पर हमारे जवान मारे जा रहे हैं।

पठानकोट एयरबेस, दीनानगर में घुसकर हमला करवा दो। अब निरंकारी सत्संग पर ग्रेनेड फेंके गए, यह बाजवा को कौन सिखा रहा है ? सत्संग करने वाले मासूमों का क्या कसूर था। शर्म आनी चाहिए बाजवा को, यह बुजदिली है। 19 लोग घायल हुए, इनमें एक छह साल का बच्चा भी था। मैं सिख धर्म का हूं, लेकिन पंजाब के प्रति मेरा फर्ज भी है, इसलिए मैं 28 नवंबर को पाकिस्तान नहीं जा रहा हूं।

पहले ही दिन पहले जत्थे के साथ मैं करतारपुर जाऊंगा

हमारा पंजाब कई वर्ष आतंकवाद की आग में जलता रहा। पंजाब आर्थिक तौर पर काफी पीछे रह गया है। पंजाब में आतंकवादी कार्रवाई आईएसआई कराती है, जो पाक आर्मी के साथ काम करती है। पंजाब में आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त 81 लोग पकडे़ जा चुके हैं और 70 हथियार बरामद हुए हैं। उन्होंने कहा बाजवा कान खोलकर सुन ले, हम कमजोर नहीं, हमें निपटना आता है। कैप्टन बोले मैं पाकिस्तान जाना चाहता हूं, लेकिन तब जाऊंगा, जब यह नापाक हरकतें बंद होंगी। हां करतारपुर कॉरिडोर शुरू होने पर पहले ही दिन पहले जत्थे के साथ मैं करतारपुर जाऊंगा।

भाषण से हरसिमरत और सिद्ध को फंसा गए सीएम
कैप्टन बाजवा के खिलाफ स्टेज पर हमला कर केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल व अपने कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को फंसा गए हैं। सिद्धू व हरसिमरत कौर बादल 28 को पाकिस्तान की तरफ से रखे जा रहे कॉरिडोर के नींव पत्थर के समारोह में जा रहे हैं। ऐसे में अगर आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा वहां पर आते हैं तो पंजाब में सियासत गर्माना तय है। नवजोत सिद्धू व बाजवा की जफ्फी को लेकर कैप्टन पहले भी सिद्धू को गलत ठहरा चुके हैं।