सलाहकार भटनागर ने आरएंडबी, जल शक्ति विभाग के कार्यो का जायजा लिया

उपराज्यपाल के सलाहकार राजीव राय भटनागर ने सिविल सचिवालय में आयोजित बैठक में आरएंडबी और जल शक्ति विभाग के कार्यो का जायजा लिया।
सलाहकार ने आरएंडबी विभाग के कार्यो की समीक्षा के दौरान सम्बंधित अधिकारियों को कोविड-19 के दौरान हुए नुकसान को पूरा करने के लिए विभाग के निर्माणाधीन निर्माण कार्यों में अत्याधिक तेजी लाने को कहा।
उन्होंने सडकों पर ब्लैकटाॅपिंग कार्य हेतु पुछताछ करते हुए कहा कि 170 किलोमीटर से भी अधिक सडकें गत माह ब्लैकटाॅपिंग से पूरी कर दी गई हैं अतिरिक्त कश्मीर घाटी में गड्ढों और अन्य पैचवर्क की मरम्मत का काम जोरों पर है।
सलाहकार ने कार्यकारियों को ब्लैकटाॅपिंग मैटिरियल मे गुणवत्ता के निर्देष दिये तथा निरंतर कार्यान्वयन निर्माणाधीन कार्यों को चैक करने पर जोर दिया।
चीफ इंजीनियर आरएंडबी कश्मीर सैमी आरिफ ने सलाहकार को जानकारी देते हुए कहा कि मैटिरियल की गुणवत्ता पर कंट्रोल के लिए एक टीम तैयार की गई है जोकि ब्लैकटॉपिंग सामग्री का निरीक्षण करती रहेगी।
चीफ इंजीनियर ने बैठक में लगभग 90 साइटों से भी अधिक कष्मीर घाटी में ब्लैकटॉपिंग के कायों के चलने की जानकारी दी। अतिरिक्त कोविड इंफेक्षन का भी निरीक्षण किया जा रहा है।
सलाहकार ने अधिकारियों को हर कीमत पर निर्माण कार्य की गुणवत्ता बनाये रखने के निर्देष दिये और समयानुसार उसे पूरा करने को कहा। सलाहकार ने पीएचई विभाग में चल रहे कार्यो का आकलन करने हेतु समीक्षा की।
बैठक में मुख्य अभियंता, पीएचई कश्मीर और विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में सलाहकार ने कहा कि पानी एक महत्वपूर्ण जरूरत है जोकि गर्मी के मौसम में जनता की अधिकतर जरूरत बनी रहेगी। जिसे पूरा करने के लिए सभी संभव कदम उठाये जाने चाहिए।
सलाहकार को बताया गया कि झेलम की वहन क्षमता 32000 क्यूसेक से बढ़ाकर 42000 क्यूसेक कर दी गई है और अगले साल इसे 60000 क्यूसेक तक ले जाने का लक्ष्य रखा गया है।
सलाहकार भटनागर ने कहा कि तटबंधों की सुरक्षा और स्थिरता को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए, इसके अतिरिक्त ऑफ टेक पॉइंट्स को ठीक से प्रबंधित किया जाना चाहिए।
सलाहकार ने संबंधित अधिकारियों को आगे सभी कार्यों को समयबद्ध तरीके से पूरा करने का निर्देश दिया, ताकि वे जनता के लिए जल्द से जल्द चालू हो सकें।