COVID-19: दिल्ली में 34% बच्चे अपने आप ठीक, नए सीरो सर्वे में और भी कई खुलासे

देश में कोरोना वायरस के मामले रोज नए रिकॉर्ड बना रहे हैं, हालांकि दिल्ली में कोरोना के केस बीते कुछ दिनों में कम हुए हैं. इस बीच दिल्ली में एक नया सीरो सर्वे किया गया, जिसमें कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. सर्वे में पता चला है कि पिछली बार के मुकाबले इस बार ज्यादा लोगों में कोरोना एंटीबॉडीज बनी है. नए सीरो सर्वे के मुताबिक दिल्ली के 29.1 परसेंट लोगों में कोविड-19 एंटीबॉडीज पाईं गईं हैं, यानि लोगों में कोरोना संक्रमण था और ये सभी लोग ठीक हो चुके हैं. दूसरे सीरो सर्वे की रिपोर्ट जारी करते हुए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि ‘ये सीरो सर्वे 1 से 7 अगस्त तक कराए गए थे. दिल्ली की आबादी लगभग 2 करोड़ है. जिसमें से 15 हजार सैम्पल लिए गए थे. जिसमें 12598 सैम्पल की रिपोर्ट सौंप दी गई है. इससे पहले पहला सीरो सर्वे NCDC के तहत हुआ था. जिसमें करीब 23.48 परसेंट लोगों में एंटीबॉडी पाई गई थी.

दूसरे सीरो सर्वे में खुलासा
सीरो सर्वे में पता चला कि 28.3% पुरुषों और 32.2% महिलाओं में एंटीबॉडी पाई गई है. वहीं 60 लाख लोगों में एंटीबॉडी बन गयी हैं. 18 साल से कम उम्र के 34.7% बच्चों में मिली एंटीबॉडीज मिली हैं. 18 से 49 साल के लोगों में 28.5% एंटीबॉडीज मिली हैं. 50 साल से ज़्यादा उम्र के 31.2 % लोगों में एंटीबॉडीज मिली हैं.

दिल्ली ‘हर्ड इम्यूनिटी’ की ओर बढ़ी
एक्सपर्ट्स मानते हैं कि दिल्ली अब हर्ड इम्यूनिटी की तरफ बढ़ रही है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक 40 से 60 परसेंट लोगों में एंटीबॉडीज बन जाये, तो हर्ड इम्युनिटी (herd immunity) की स्टेज आती है. देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले 28 लाख के पार हो चुके हैं, वहीं दिल्ली में 1.56 लाख से ज्यादा लोगों में कोरोना संक्रमण पाया जा चुका है. इनमें से 1.40 लाख से ज्यादा लोगों का इलाज हो चुका है. इसके अलावा दिल्ली में अब 11,137 एक्टिव कोरोना केस हैं.