कश्मीर में आतंकियों का हो रहा है लगातार नुकसान, जुलाई में 21 मारे गए

कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों के आपरेशन लगातार जारी है। इस साल आतंकियों के खिलाफ आपरेशनों में लगातार सुरक्षाबलों को सफलता मिल रही है। जुलाई माह में 21 आतंकी मारे गए है। जिसमें सबसे अधिक जैश के आतंकी मारे गए है। इस साल अभी तक 138 आतंकी मारे गए है। जोकि अपने आप में बडी सफलता है। इस साल कई कमांडरों को मार गिराया गया है।
जानकारी के अनुसार, कश्मीर में इस साल के जुलाई माह में 21 आतंकी मारे गए हैं, जिसमें नौ कश्मीर आतंकी थे। छह पाकिस्तानी आतंकी शामिल थे। जबकि छह ऐसे आतंकी थे जिनकी पहचान ही नहीं हो पाई है। मारे गए आतंकियों में आठ जैश संगठन के थे, चार लश्कर, दो हिजबुल, आईएस का एक जबकि छह ऐसे आतंकी थे जिनके ग्रुप के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली। इसी दौरान छह सुरक्षाबलों के जवान भी शहीद हुए है। इनमें दो जवान मुठभेड में शहीद हुए है। दो जवानों पर हमला करके आतंकी भाग गए। जबकि दो अन्य आतंकी घटनाओं में शहीद हुए है। इसमें दो सेना के जवान, दो सीआरपीएफ, एक डीएससी तथा एक पुलिस का जवान शामिल है।

आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबल मिलकर आपरेशन चलाए हुए है। मददगारों को पकडने से लेकर आतंकियों को मार गिराने में सफलता मिल रही है। कश्मीर में सरक्षाबल पूरे एक प्लान के तहत काम कर रहे है। इस साल त्राल जैसे इलाके से आतंकवाद को खत्म कर दिया गया। पुलिस के आला अधिकारियों का कहना है कि आतंकियों के खिलाफ नेटवर्क को मजबूत किया गया है। एक तरफ यहां आर्थिक तौर पर उनकी कमर को तोड़ा जा रहा है। वही आतंकियों को उनके ही ठिकानों से बाहर निकाल कर मारा जा रहा है। अब कश्मीर के लोग आतंकवाद के साथ नहीं चल रहे है जिससे कि सुरक्षाबलों को पूरा फायदा मिल रहा है। पहले मुठभेड़ में आतंकियों को मारने के दौरान लोग बीच में आते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होता है