Coronavirus: जम्मू में इस बार नहीं निकलेगी भगवान श्री राम की पारम्परिक शोभा यात्रा

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जम्मू में इस बार की भगवान श्री राम की पारम्परिक शोभा यात्रा नहीं निकलेगी. शोभा यात्रा का आयोजन करने वाले धर्मार्थ ट्रस्ट का दावा है कि ट्रस्ट के इतिहास में पहला मौका होगा जब इस यात्रा का आयोजन रद्द किया गया हो.

जम्मू कश्मीर धर्मार्थ ट्रस्ट ने देश और प्रदेश में फैल रहे कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते प्रशासन द्वारा जारी किये गए दिशा निर्देशों का पालन करते हुए यह फैसला लिया है, जिसमें 2 अप्रैल यानि राम नवमी वाले दिन श्री रघुनाथ मंदिर से निकालने वाली पारम्परिक शोभा यात्रा को रद्द किया गया हो. ट्रस्ट के अध्यक्ष मुबारिक सिंह के मुताबिक प्रदेश में कोरोना वायरस के मौजूदा हालातों के चलते इस यात्रा को रद्द कर दिया गया है.

मुबारिक सिंह के मुताबिक आम जनता की सुरक्षा को सर्वोपरि रखते हुए यह फैसला लिया गया है. हालांकि, उन्होंने यह साफ़ किया कि शोभा यात्रा रद्द होने के बावजूद रामनवमी के बाकी सभी अनुष्ठान और श्री राम जी की आरती विदिवत तरीके से मंदिर परिसर में होगी जिसका लाइव प्रसारण किया जायेगा.ट्रस्ट ने आम जनता से भी अपील की है कि वो रामनवमी के दिन भीड़ भाड़ वाले इलाको से बचें.

जम्मू में शोभा यात्रा का आयोजन धर्मार्थ ट्रस्ट के साथ कई धार्मिक और सामाजिक संस्थाए करती हैं जिसमें श्री राम की भव्य शोभा यात्रा को उत्तर भारत के सबसे बड़े राम मंदिर, रघुनाथ मंदिर, से निकाला जाता है और यह यात्रा जम्मू के पुराने शहर में घूम कर वापस मंदिर में संपन्न होती है.