अकाल तख्त की अपील पर जम्मू कश्मीर में सिख समुदाय के लोग घर पर ही बैशाखी मनाएंगे

जम्मू-कश्मीर में सिख समुदाय के लोगों ने शनिवार को कहा कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर अकाल तख्त की अपील का पालन करते हुए वे बैशाखी का त्योहार अपने घरों के अंदर रह कर ही मनाएंगे। जम्मू-कश्मीर में सिख संगठनों के एक संयुक्त बयान में कहा गया है,“हम जत्थेदार श्री अकाल तख्त साहिब अमृतसर द्वारा की गई अपील का पालन करेंगे और (13 अप्रैल को) बैसाखी पर किसी भी प्रकार के जमावड़े से बचेंगे। हम लॉकडाउन का पालन करते हुए अपने-अपने घरों के अंदर रह कर ही प्रार्थना करेंगे।’’ सिख संयुक्त मोर्चा, शिरोमणि अकाली दल, सिख वेलफेयर सोसाइटी, सेवा सोसाइटी, सिख नौजवान सभा, सिख छात्र संघ और जिला गुरुद्वारा प्रबंधक समितियों के विभिन्न सदस्यों ने फोन पर इस बारे में चर्चा करने के बाद यह निर्णय लिया। उल्लेखनीय है कि अकाल तख्त ने तीन अप्रैल को सिख समुदाय से बैसाखी घर पर रह कर ही मनाने की अपील की थी।