Smart India Hackathon का ग्रैंड फिनाले कल से, पीएम मोदी के संबोधन के साथ होगी शुरुआत

देश में इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार की ओर से चलाए जा रहे ‘स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन’ (Smart India Hackathon 2020) का ग्रैंड फिनाले शनिवार 1 अगस्त से शुरू हो रहा है. 3 अगस्त तक चलने वाला ये हैकाथॉन इस तरह का दुनिया में सबसे बड़ा इवेंट है. शनिवार को इस इवेंट की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन के साथ होगी.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पीएम का संबोधन

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की संस्था अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE), पर्सिसटेंट सिस्टम्स और i4C मिलकर इस हैकाथॉन का आयोजन कर रहे हैं. इस बार इस प्रतियोगिता में 10 हजार प्रतिभागी शामिल हो रहे हैं. इस प्रतियोगिता के शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन होगा. पीएम वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए सभी प्रतिभागियों के साथ अपने विचार बांटेंगे.

देश में टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में इनोवेशन को प्रोत्साहित करने के लिए केंद्र सरकार 2017 से इस हैकाथॉन का आयोजन कर रही है. केंद्र सरकार के कामकाज से जुड़ी समस्याओं को सुलझाने के लक्ष्य के साथ ही इस हैकाथॉन का आयोजन किया जा रहा है.

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का कहना है कि केंद्र सरकार को ये प्रयास बेहद सफल रहा है और 2017 में पहली बार 42 हजार छात्रों ने इसमें हिस्सा लिया था, जो इस साल बढ़कर साढ़े 4 लाख तक पहुंच गई.

243 समस्याओं का हल ढूंढ़ने की चुनौती

कोरोना महामारी के कारण इस बार हैकाथॉन के ग्रैंड फिनाले को एक विशेष ऑनलाइट प्लेटफॉर्म पर आयोजित किया जा रहा है. इसमें केंद्र सरकार के 37 विभागों, 17 राज्य सरकार और 20 अलग-अलग उद्योगों की 243 समस्याओं को इस हैकाथॉन में हिस्सा ले रहे छात्रों के सामने रखा गया है.

हैकाथॉन में जीतने वाले छात्रों को पुरस्कार के तौर पर अलग-अलग आर्थिक प्रोत्साहन दिया जाएगा. हर समस्या को सुलझाने के लिए छात्र को 1 लाख रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा, जबकि स्टूडेंट इनोवेशन के तहत प्रथम पुरस्कार के तौर पर 1 लाख रुपये, द्वितीय पुरस्कार के तहत 75 हजार रुपये और तृतीय पुरस्कार के तहत 50 हजार रुपये दिए जाएंगे.