टीम इंडिया और ऐतिहासिक जीत के बीच कमिंस बने दीवार, रोमांचक मोड़ पर पहुंचा टेस्ट

टीम इंडिया ने शनिवार को मेलबर्न टेस्ट जीतने की तैयारी कर ली है। विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम इंडिया ऐतिहासिक जीत से केवल दो विकेट दूर है। भारतीय टीम के पास चौथे दिन टेस्ट जीतकर इतिहास रचने का सुनहरा मौका था, लेकिन पैट कमिंस दीवार की तरह अड़ गए और मुकाबले एक दिन आगे बढ़ाने में कामयाबी हासिल की।

बॉक्सिंग-डे के चौथे दिन स्टंप्स के समय ऑस्ट्रेलिया ने 85 ओवर में 8 विकेट खोकर 258 रन बना लिए हैं। पैट कमिंस 60* और नाथन लियोन 6* रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं। मेजबान टीम को जीत के लिए 141 रन की जरूरत है।

तीसरे टेस्ट के चौथे दिन टीम इंडिया ने अपनी दूसरी पारी 37.3 ओवर में 8 विकेट पर 106 रन के स्कोर पर घोषित की। इस तरह ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 399 रन का लक्ष्य मिला। विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत पहली पारी के हीरो जसप्रीत बुमराह ने बिगाड़ी।

बुमराह ने कंगारू ओपनर आरोन फिंच (3) को कप्तान विराट कोहली के हाथों कैच आउट कराया। जल्द ही रवींद्र जडेजा ने मार्कस हैरिस (13) को शॉर्ट लेग पर मयंक अग्रवाल के हाथों कैच आउट कराया। मयंक ने अच्छा कैच लपका।

लंच के बाद मोहम्मद शमी ने टीम इंडिया को तीसरी सफलता दिलाई। उन्होंने क्रीज पर जम चुके उस्मान ख्वाजा (33) को एलबीडब्ल्यू आउट किया। तीन विकेट जल्दी गिरने के बाद शॉन मार्श (44) और ट्रेविस हेड ऑस्ट्रेलियाई पारी को संभालने में जुटे।

दोनों ने चौथे विकेट के लिए 51 रन की साझेदारी की और टीम के स्कोर को 100 रन के पार पहुंचाया। दोनों ने तेजी से रन बटोरना शुरू किए ही थे कि तभी बुमराह ने शॉन मार्श को एलबीडब्ल्यू आउट करके इस साझेदारी को तोड़ दिया और टीम इंडिया को बड़ी सफलता दिलाई।

इसके बाद जडेजा ने मिचेल मार्श (10) को अपनी फिरकी के जाल में उलझाया। उन्होंने मार्श से ड्राइव लगवाई और कवर्स पर कप्तान कोहली ने आसान कैच लपका। यहां से ट्रेविस हेड 34 और कप्तान पैन ने 22 रन की साझेदारी करते हुए टी टाइम तक पारी को संभाला। चायकाल के बाद इशांत ने हेड को बोल्ड करके इस अहम साझेदारी को तोड़ा।

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पैन (26) भी टीम का संकट नहीं टाल सके और वह जडेजा के तीसरे शिकार बने। जडेजा ने पैन को विकेटकीपर पंत के हाथों कैच आउट कराया। यहां से पैट कमिंस ने फिर मिचेल स्टार्क के साथ मिलकर 39 रन की साझेदारी की। शमी ने स्टार्क को बोल्ड करके इस साझेदारी को तोड़ा।

इसके बाद कमिंस ने लियोन के साथ 9वें विकेट के लिए 43 रन की अविजित साझेदारी की और मैच अंतिम दिन बढ़ाने में कामयाबी हासिल की। कमिंस ने बुमराह द्वारा किए पारी के 81वें ओवर की पांचवीं गेंद पर चौका जमाकर अपने टेस्ट करियर का दूसरा अर्धशतक पूरा किया।

टीम इंडिया की तरफ से रवींद्र जडेजा ने सर्वाधिक तीन विकेट लिए। जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी ने दो-दो जबकि इशांत शर्मा को एक विकेट मिला।