गौतम गंभीर का शाहिद अफरीदी को करारा जवाब, कहा- मैं तुम्हारे इलाज के लिए…

पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने अपनी आत्मकथा ‘गेम चेंजर’ में गौतम गंभीर के बारे में निगेटिव बातें लिखी हैं. उन्होंने ना सिर्फ भारतीय के पूर्व क्रिकेटर के रवैये पर सवाल उठाए हैं, बल्कि यह भी कह डाला कि उनका क्रिकेट जगत में कोई रिकॉर्ड नहीं है. अपने बेबाकपन के लिए मशहूर गौतम गंभीर भी कहां चुप रहने वाले हैं. उन्होंने पाकिस्तानी क्रिकेटर को करारा जवाब देते हुए उन्हें ‘मनोचिकित्सक’  के पास ले जाने की पेशकश की है.

शाहिद अफरीदी ने अपनी आत्मकथा ‘गेम चेंजर’ में व्यांग्यत्मक रूप में गंभीर के बारे में लिखा कि वे ‘इस तरह का व्यवहार करते हैं जैसे डॉन ब्रैडमैन और जेम्स बॉन्ड दोनों की काबिलियत’ रखते हों. उनकका रवैया भी अच्छा नहीं है. ना ही उनके कोई महान रिकार्ड हैं. अफरीदी ने लिखा है कि गंभीर की अपनी कोई खास पर्सनालिटी नहीं है. वे निगेटिव शख्स हैं.

अब पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने शाहिद अफरीदी को जवाब दिया है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘तुम मजाकिया व्यक्ति हो! कोई नहीं, हम अब भी पाकिस्तानी लोगों को इलाज के लिए वीजा दे रहे हैं. मैं खुद तुम्हें मनोचिकित्सक के पास लेकर जाऊंगा.’ अफरीदी पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के कप्तान भी रह चुके हैं. वे पहले भी भारतीय टीम या खिलाड़ियों के बारे में विवादित बयान देते रहे हैं.

इन दोनों खिलाड़ियों के बीच मैदान के अंदर और बाहर ही अच्छा तालमेल नहीं रहा है और अफरीदी की इस तरह की टिप्पणी में यह साफ झलकता है. साल 2007 में कानपुर में द्विपक्षीय वनडे सीरीज में दोनों के बीच बहस हो गई थी. हालांकि, अफरीदी की किताब में इसे एशिया कप का मैच बताया गया है, जो गलत है.

शाहिद अफरीदी ने किताब में अपनी सही उम्र का खुलासा भी किया है. हालांकि, वे इसमें भी भ्रमित नजर आ रहे हैं. उन्होंने गेम चेंजर में अपनी जन्मतिथि 1975 की बताई है. हालांकि, आधिकारिक रिकॉर्ड में यह 1 मार्च 1980 दर्ज है. अफरीदी ने 1996 में अपना पहला मैच खेला था. इस हिसाब से तब उनकी आधिकारिक उम्र 16 साल थी. अफरीदी ने अब किताब में कहा कि वे तब 16 नहीं, 19 साल के थे. जबकि, अगर उनकी जन्मतिथि किताब के मुताबिक 1975 की मानी जाए तो वे 1996 में 21 साल के रहे होंगे. यानी उनकी उम्र को लेकर गड़बड़ घोटाला तो अब भी नहीं थमा है.