IND vs NZ: टीम इंडिया महज 92 रन पर सिमटी, न्यूजीलैंड ने चखा पहली जीत का स्वाद

ट्रेंट बोल्ट (10 ओवर, 4 मेडन, 21 रन, 5 विकेट) और कॉलिन डी ग्रैंडहोम (10 ओवर, 2 मेडन, 26 रन, 3 विकेट) की घातक गेंदबाजी की बदौलत न्यूजीलैंड ने गुरुवार को मौजूदा वन-डे सीरीज में पहली जीत का स्वाद चखा। न्यूजीलैंड ने हैमिल्टन में खेले गए चौथे वन-डे में टीम इंडिया को 8 विकेट से मात दी। इसी के साथ कीवी टीम ने पांच मैचों की सीरीज का अंतर 1-3 कर दिया है। सीरीज का पांचवां व अंतिम वन-डे रविवार को वेलिंगटन में खेला जाएगा।

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने टॉस जीतकर टीम इंडिया को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। भारतीय बल्लेबाजों ने बोल्ट के सामने सरेंडर किया और पूरी टीम 30.5 ओवर में 92 रन पर ढेर हो गई। जवाब में मेजबान टीम ने 14.4 ओवर में दो विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। हेनरी निकोल्स 30* और रॉस टेलर टीम 37* को जीत दिलाकर पवेलियन लौटे।

93 रन के आसान लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड को पहला झटका भुवनेश्वर कुमार ने दिया। उन्होंने मार्टिन गप्टिल (14) को हार्दिक पांड्या के हाथों कैच आउट कराया। इसके बाद भुवी ने कीवी कप्तान केन विलियमसन (11) को विकेटकीपर कार्तिक के हाथों कैच आउट कराकर न्यूजीलैंड का दूसरा विकेट गिराया।

39 रन पर दो विकेट गिरने के बाद निकोल्स और टेलर ने मेजबान टीम को कोई और नुकसान नहीं होने दिया व कीवी टीम को जीत दिलाई।

इससे पहले बोल्ट और ग्रैंडहोम ने टीम इंडिया को 92 रन पर ऑलआउट कर दिया। टीम इंडिया के सर्वश्रेष्ठ स्कोरर युजवेंद्र चहल रहे, जिन्होंने 37 गेंदों में 3 चौकों की मदद से नाबाद 17 रन बनाए।

विलियमसन के टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी के फैसले को गेंदबाजों ने एकदम सही ठहराया। ट्रेंट बोल्ट ने शिखर धवन (13) को एलबीडब्ल्यू आउट करके इसकी शुरुआत की। इसके बाद उन्होंने रोहित शर्मा (7) और डेब्यूटेंट शुभमन गिल (9) के अपनी ही गेंद पर कैच लपके व टीम इंडिया को बैकफुट पर धकेला।

बोल्ट को कॉलिन डी ग्रैंडहोम का अच्छा साथ मिला, जिन्होंने अंबाती रायुडू और दिनेश कार्तिक को खाता खोलने का मौका भी नहीं दिया। रायुडू का कैच गप्टिल जबकि कार्तिक का कैच विकेटकीपर ग्रैंडहोम ने लपका। फिर बोल्ट ने केदार जाधव (1) को एलबीडब्ल्यू आउट करके अपना चौथा शिकार किया। इसके बाद ग्रैंडहोम ने भुवनेश्वर कुमार को (1) एलबीडब्ल्यू आउट करके टीम इंडिया को सातवां झटका दिया।

इसके बाद हार्दिक पांड्या (16) ने चार चौके जमाकर टीम इंडिया को संभालने की उम्मीद जताई, लेकिन बोल्ट ने उन्हें लैथम के हाथों कैच आउट कराकर इस पर पानी फेर दिया। इसके बाद कुलदीप यादव (15) ने युजवेंद्र चहल के साथ मिलकर टीम इंडिया का स्कोर 80 रन तक पहुंचाया। दोनों क्रीज पर जमे ही थे कि टॉड एस्टल की गेंद पर कुलदीप ने स्वीप शॉट खेला। गेंद हवा में गई और बाउंड्री लाइन पर कॉलिन डी ग्रैंडहोम ने उनका आसान कैच लपका।

जल्द ही जिमी निशाम ने खलील अहमद (5) को क्लीन बोल्ड करके भारतीय पारी का अंत किया। कीवी गेंदबाजों में टॉड एस्टल और जिमी निशाम को एक-एक सफलता मिली।