INDvsAUS 3rd test: दूसरे दिन भारत की शानदार बैटिंग

मेलबर्न:  भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज के तीसरे टेस्ट के दूसरे दिन टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया. ऑस्ट्रेलिया की कसी गेंदबाजी के बीच भारत ने पहले सत्र में विकेट बचाए जिसमें चेतेश्वर पुजारा ने शानदार शतक लगाया. इसके अलावा कप्तान विराट कोहली (82), और रोहित (63) ने हाफ सेंचुरी लगाई.

दिन का खेल खत्म होने से पहले जब टीम इंडिया के 443 रनो पर 7 विकेट गिर गए, तब कप्तान विराट कोहली ने पारी समाप्ति की घोषणा कर दी. इस स्कोर के लिहाज से दिन भारतीय बल्लेबाजों के नाम रहा. इसमें ऑस्ट्रेलिया की फिल्डिंग भी काफी चर्चा में रही जिसमें विराट सहित रहाणे, रोहित और ऋषभ पंत को जीवन दान मिले. अब ऑस्ट्रेलिया की फिल्डिंग बेहतर होती तो कम से कम 50 रन का फर्क पड़ सकता था.

भारतीय गेंदबाजों को नहीं मिल पाया फायदा
पारी समाप्ति की घोषणा के बाद टीम इंडिया को दिन का खेल खत्म होने से पहले 6 ओवर डालने का मौका मिला, लेकिन टीम इंडिया आखिरी ओवरों में विकेट नहीं निकाल सकी. हालाकि भारतीय गेंदबाजों, खासकर जसप्रीत बुमराह ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को परेशान करने में कामयाब जरूर रहे. अब मैच में टीम इंडिया के गेंदबाजों और फिल्डर्स का इम्तिहान होगा. देखने वाली बात यही होगी की दोनों पारियों में गेंदबाजी का कितना और कैसा फर्क रहता है.

पहले सत्र में पुजारा छाए रहे
दिन का पहला सत्र टीम इंडिया के नाम रहा, बल्कि विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा के नाम रहा. विराट कोहली ने 82 रनों की पारी खेली और वे लंच के बाद ही आउट हुए, लेकिन वे ज्यादातर भाग्यशाली ही रहे. इसके विपरीत पुजारा सही मायने में हैरान परेशान किया. उन्होंने अपनी सेंचुरी पूरी करने में 280 गेंद मिली. इसमें से पहले दिन बने 68 रन बनाने में 200 गेंदें लगी. इस लिहाज से पुजारा ने तेजी से बल्लेबाजी भी की. मजेदार बात यह रही कि सुबह गेंदबाजों को पिच से मदद भी मिल रही थी. नतीजा यह हुआ कि लंच तक भारत का स्कोर दो विकेट पर 277 रन था.

रोहित ने उठाया मौके का फायदा
दूसरे सत्र में ऑस्ट्रेलिया को विकेट मिलने शुरू हुए तो विराट पुजारा के आउट होने के बाद रोहित और रहाणे ने मोर्चा संभाल लिया और चाय तक टीम इंडिया का स्कोर चार विकेट के नुकसान तक 346 रन कर दिया. तीसरे सत्र में मेजबान टीम की फिल्डिंग ने निराश किया. पहले रोहित फिर रहाणे को जीवन दान मिला. रहाणए जल्दी ही आउट हो गए पर रोहित ने जीवन दान का फायदा उठाया और एक फिफ्टी ठोक डाली. पंत ने भी हाथ खोल दिए लेकिन वे 39 से ज्यादा रन नहीं बना सके, जबकि उन्हें भी जीवनदान मिला था.

विराट के अंदाज ने चौंकाया
अंत में विराट कोहली ने अचानक ही पारी घोषित कर सबको चौंका दिया क्योंकि जिसतरह से रोहित, और पंत बल्लेबाजी कर रहे थे तो लग नहीं रहा था कि विराट पारी घोषित करने के मूड में हैं, लेकिन जडेजा के आउट होते ही विराट ने रोहित को वापस बुला लिया और पारी घोषित कर दी. विशेषज्ञों का मानना है कि विराट अगर थोड़ी योजना बनाकर पारी घोषित करते तो शायद टीम इंडिया को कम से कम 20-25 रन ज्यादा मिल जाते. अब सब कुछ टीम इंडिया की गेंदबाजी पर निर्भर करेगा कि मैच किस तरफ जाता है.